anthonius gunawan
anthonius gunawan

जकार्ता/एएफपी। इंडोनेशिया के एक वायु यातायात नियंत्रक की मरणोपरांत नायक के रूप में वाहवाही हो रही है जिन्होंने भयावह भूकंप के बावजूद अपनी जगह नहीं छोड़ी थी ताकि एक यात्री विमान को सुरक्षित उतारने में मदद कर सके। इक्कीस साल के एंथोनियस गुनावान आगुंग पालू के मुशियारा एसआईएस अल-जफरी हवाईअड्डे पर वायु यातायात नियंत्रण टॉवर में तैनात थे।

शुक्रवार को वह अपनी जिम्मेदारी संभाल रहे थे तभी सुलावेसी द्वीप के इस शहर में भूकंप के झटके महसूस किए गए।अधिकारियों के मुताबिक आगुंग ने बाटिक एयर के एक विमान के उतरने से पहले अपनी जगह छोड़ने से मना कर दिया।

वहीं उनके कुछ सहकर्मी चले गए जिन पर विमान के नियंत्रण की जिम्मेदारी नहीं थी। एयरनेव इंडोनेशिया के प्रवक्ता योहान्स हैरी सिरैट ने कहा, जब भूकंप आया तो वह बाटिक एयर के विमान को उतरने के लिए संदेश दे रहे थे और उन्होंने विमान के सुरक्षित उतरने तक इंतजार किया और उसके बाद ही अंतत: एटीसी केबिन टॉवर से बाहर निकले।

इसी दौरान 7.5 तीव्रता का भूकंप का जोरदार झटका आया और साथ में सुनामी भी लाया। आगुंग ने बचने की कोशिश में चार मंजिला टॉवर से छलांग लगा दी। उनकी टांग टूट गई और गंभीर भीतरी चोट आईं। उन्हें पास के अस्पताल ले जाया गया और प्राथमिक उपचार किया गया।

उन्हें बेहतर चिकित्सा सुविधाओं के लिए हवाई रास्ते से बड़े अस्पताल ले जाया जा रहा था लेकिन हेलीकॉप्टर आने से पहले उनकी मौत हो गई। एयरनेव ने एक बयान में कहा कि आगुंग के उत्कृष्ट समर्पण के लिए उनके सम्मान के रूप में कंपनी प्रतीकात्मक रूप में उनका दर्जा दो स्तर प्रोन्नत करेगी।

ये भी पढ़िए:
– छोटे कारोबारियों को मोदी सरकार देगी बड़ी सौगात, बिना बैंक गए 1 घंटे में मिलेगा लोन
– दुर्घटना पीड़ितों की मदद पर पुलिस नहीं करेगी परेशान, राष्ट्रपति ने दी विधेयक को मंजूरी
– लखनऊ गोलीकांड: केजरीवाल के ट्वीट से खफा विवेक की पत्नी बोलीं- हर चीज को जातिवाद से न जोड़ें
– इमरान से मिलने आए थे कुवैती मेहमान, पाकिस्तानी अफसर ने चुरा लिया बटुआ, देखिए वीडियो

LEAVE A REPLY