sabarimala temple
sabarimala temple

तिरुवनंतपुरम। केरल के प्रसिद्ध सबरीमाला मंदिर के कपाट 5 नवंबर को खुलेंगे। इस अवसर पर मंदिर में विशेष पूजा-अर्चना होगी लेकिन किसी भी तरह के विवाद की स्थिति से निपटने के लिए प्रशासन बहुत फूंक-फूंक कर कदम रख रहा है। एक रिपोर्ट के अनुसार, शनिवार को ही यहां भारी पुलिसबल तैनात कर दिया जाएगा। पथनामथिट्टा के जिला पुलिस अधीक्षक टी. नारायण ने कहा है कि पुलिसबल 6 नवंबर को मध्यरात्रि तक तैनात रहेगा, जब तक कि मंदिर के कपाट फिर से बंद नहीं हो जाते।

चूंकि सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को लेकर यहां भारी विवाद की स्थिति उत्पन्न हो गई थी। अब दोबारा कपाट खुलने के बाद ऐसे हालात न हों, इसके लिए कई इलाकों में धारा 144 लगाई जाएगी। धार्मिक स्थल पर टकराव न हो, इसके लिए यह इलाका छावनी में बदल दिया जाएगा। यहां करीब 5 हजार पुलिस जवान तैनात किए जाएंगे।

सबरीमाला पर उच्चतम न्यायालय द्वारा 28 सितंबर को दिए गए एक फैसले के बाद यहां माहौल काफी तनावपूर्ण हो गया था। मंदिर में 10 से 50 साल तक की आयु वाली महिलाओं के प्रवेश पर पाबंदी थी। न्यायालय ने इसे हटाने का आदेश देकर हर आयु की महिला के लिए मंदिर के द्वार खोल दिए। हालांकि उसका यहां तीव्र विरोध हुआ और फैसले के बाद भी महिलाओं को मंदिर में नहीं जाने दिया गया। सबरीमाला मंदिर और उसके आसपास के कई इलाकों में हिंसक प्रदर्शन किए गए।

जानकारी के अनुसार, अब दोबारा मंदिर के कपाट खुलने पर अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए प्रशासन 4 से 6 नवंबर तक सन्नीधनम, पंबा, निलाक्कल और इलावंकुल में धारा 144 लगा सकता है। भारी तादाद में पुलिस के जवानों की तैनाती कर प्रदर्शनकारियों को व्यवधान पैदा करने से रोका जाएगा।

मंदिर में महिलाओं का प्रवेश रोकने और उग्र विरोध प्रदर्शन करने पर 3,700 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। वहीं विभिन्न थानों में 536 मामले दर्ज हुए। यह मसला राजनेताओं तक पहुंचा तो वहां भी आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया। 16 नवंबर को मंदिर के कपाट नियमित वार्षिक तीर्थयात्रा के लिए खुलेंगे। ऐसी चर्चा है ​कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी यहां दर्शन के लिए आएंगे।

ये भी पढ़िए:
– लालू के परिवार में झगड़ा, तेज प्रताप देने जा रहे पत्नी को तलाक
– लघु उद्यमों को दिवाली से पहले तोहफा, 59 मिनट में मिलेगा 1 करोड़ तक का कर्ज
– चीन: महिला यात्री और चालक में हुआ झगड़ा, चलती बस नदी में गिरी, 13 की मौत
– असम हत्याकांड: गोलियों की बौछार देख गड्ढे में कूदा, मुर्दे का नाटक कर बचाई जान
– मुस्लिम युवक ने परिवार सहित अपनाया हिंदू धर्म, कहा- सपने में आते हैं भगवान राम

LEAVE A REPLY