pm narendra modi
pm narendra modi

नई दिल्ली। भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्ष पर खूब शब्दबाण चलाए। इस दौरान उन्होंने ‘अजेय भारत, अटल भाजपा’ नारा दिया। मोदी ने कहा कि यह नारा स्व. वाजपेयी को समर्पित है। यह दो दिवसीय बैठक शनिवार को शुरू हुई थी जिसमें पार्टी के दिग्गज नेताओं और पदाधिकारियों ने भाग लिया। शनिवार को बैठक का समापन दिवस था।

अपने भाषण में प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस पर तंज कसा और बोले कि कांग्रेस के नेतृत्व को उनकी पार्टी के अंदर ही स्वीकार नहीं किया जा रहा है। विपक्ष द्वारा महागठबंधन निर्माण की संभावनाओं पर मोदी ने कहा कि यह ऐसा महागठबंधन है जिसके नेतृत्व का पता नहीं है। उन्होंने संभावित महागठबंधन की नीति पर कहा कि इनकी नीति अस्पष्ट है और नीयत भी भ्रष्ट है।

प्रधानमंत्री मोदी ने महागठबंधन के उद्देश्यों पर सवाल उठाते हुए कहा कि इसमें लोग एक-दूसरे को देख नहीं सकते, लेकिन आज गले लगने को तैयार हो गए हैं। मोदी ने कहा कि यह हमारी सफलता है। उन्होंने कांग्रेस की भूमिका पर कहा कि जो लोग सत्ता में रहते हुए भी विफल थे, वह आज विपक्ष के रूप में भी विफल हैं।

उन्होंने विपक्ष पर मुद्दों से भटकने का आरोप लगाते हुए कहा कि ये सही मुद्दों पर कोई बात नहीं करते हैं। मोदी ने उनके शासन की तुलना करते हुए कहा कि इनके सत्ता के 48 साल और हमारे 48 महीने हैं। इनसे यह सवाल पूछा जाना चाहिए कि उन्होंने 48 सालों में क्या किया, किसके लिए किया और किस नीयत से किया। उन्होंने कांग्रेस से सवाल किया कि क्या 48 साल शासन के बाद हमारे 48 महीने के काम की समीक्षा करेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि यह झूठ पर लड़ती है और वे काम के आधार पर जवाब देंगे। उन्होंने कहा कि तर्कों के आधार पर कांग्रेस के झूठ को बेनकाब किया जाएगा। मोदी ने कहा कि उनकी पार्टी सिद्धांतों के लिए काम करती है। रणनीति बदलने पर भी सिद्धांत अपरिवर्तित रहते हैं।

आगामी लोकसभा चुनावों पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमें कोई चुनौती नहीं दिखाई देती। उन्होंने लोकतंत्र में विपक्ष को आवश्यक बताया। साथ ही मौजूदा विपक्ष को काम के आधार पर सवाल पूछने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि सरकार जवाब देने के लिए तैयार है। मोदी ने विपक्ष को पूरी तरह विफल बताया और कहा कि उसके पास मुद्दे और नई बात नहीं हैं।

मोदी ने गुजरात में कई वर्षों से भाजपा की सरकार का जिक्र करते हुए कहा कि इसका एक ही कारण है, हमने सत्ता का अहंकार नहीं किया। उन्होंने कहा कि भाजपा सत्ता को कुर्सी के रूप में नहीं बल्कि जनता की भलाई के नजरिए से देखती है। उन्होंने स्व. वाजपेयी को श्रद्धांजलि दी और कहा कि अटलजी के बताए मार्ग पर चल रहे हैं। प्रधानमंत्री के भाषण के बाद उनके समर्थक ‘अजेय भारत, अटल भाजपा’ नारे को सोशल मीडिया पर पोस्ट कर रहे हैं।

ये भी पढ़िए:
भाजपा ने ​पेश किया ‘विजन 2022’, कहा- विपक्ष के पास न नेता, न नीति और न ही रणनीति
‘कश्मीर में घट गई आतंकियों की उम्र, सुरक्षाबलों ने दो साल में मारे 360 से ज्यादा आतंकी’
भोजपुरी एक्ट्रेस अंजना सिंह की ये 3 फिल्में मचा रही हैं धमाल, सिनेमाघरों में छाया जलवा
‘स्त्री’ में भूत का किरदार निभाने वाली एक्ट्रेस असल ज़िंदगी में दिखती हैं ऐसी
सिद्धू पर बोले तारेक फतह- ‘जेल में बंद मरियम नवाज़ से मिलते तो होते असली पंजाबी’

LEAVE A REPLY