गांधी का सामान खरीदने के लिए संगठन आगे आए

कानपुर। गांधीवादी लेखक गिरिराज किशोर द्वारा महात्मा गांधी की वस्तुओं की लंदन में नीलामी से क्षुब्ध होकर अपना पद्मश्री सम्मान वापस करने की खबर मीडिया में आने के बाद शहर की अनेक स्वंय सेवी संगठन उनके समर्थन में आ गए हैं।
मानस संगम नामक संस्था ने राष्ट्रपति को पत्र लिखकर कहा कि भारत सरकार इस सामान को नीलामी में खरीद लें और उसको खरीदने में जो पैसा सरकार का लगेगा वह जनता से चंदा करके उनकी संस्था सरकार को उपलब्ध करा देगी। उधर वरिष्ठ लेखक पदमश्री गिरिराज किशोर ने मशहूर समाज सेवी अन्ना हजारे से टेलीफोन पर बात की और उनसे समर्थन मांगा। जिस पर अन्ना ने चिंता जताते हुए इस मामले को उठाने का आश्वासन उन्हें दिया है।
शहर की सांस्कृतिककर्मी एवं युवा कवि बद्री नारायण तिवारी ने कहा कि उन्होंने राष्ट्रपति को पत्र लिखकर मांग की है कि लंदन में 17 अप्रैल को होने वाली बापू की वस्तुओं की नीलामी को रोकने के लिए वह राष्ट्र प्रमुख होने के नाते हस्तक्षेप करें और अगर नीलामी न रुक पाए तो भारत सरकार नीलामी में इन वस्तुओं की खरीददारी कर लें और इस खरीददारी में जो भी रकम लगेगी वह मानस संगम संस्था आम जनता से जनसहयोग और चंदे के रुप में एकत्र करके भारत सरकार को दे देगी। बस हर भारतीय की तरह उनकी भी यह इच्छा है कि राष्ट्रपिता के खून से सनी मिट्टी और अन्य सामान भारत लाया जा सके।उधर गांधीवादी लेखक गिरिराज किशोर ने भाषा को बताया कि उन्होंने सुबह महात्मा गांधी की वस्तुओं की नीलामी रोकने के लिए मशहूर समाज सेवी अन्ना हजारे को फोन किया और उन्हें पूरी बात बताई और उनसे इस नीलामी को रोकने के लिए कुछ करने को कहा। लेखक गिरिराज ने कहा कि इस पर अन्ना ने उनके इस आंदोलन का समर्थन किया और उन्हें आश्वासन दिया है कि वह इस मामले पर आवश्यक कदम उठाएंगे।

Be Sociable, Share!

Short URL: http://www.dakshinbharat.com/?p=3911

Posted by on Apr 17 2012. Filed under सुर्खियां. You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. You can leave a response or trackback to this entry

You must be logged in to post a comment Login

Powered by Givontech