navjot singh sidhu
navjot singh sidhu

​देहरादून। पूर्व क्रिकेटर और पंजाब सरकार के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने अब एक नया विवाद छेड़ दिया है। उन्होंने दक्षिण भारत की पाकिस्तान से तुलना की है। यही नहीं, कई मायनों में पाकिस्तान को दक्षिण भारत से बेहतर जगह बता दिया। ​सिद्धू शुक्रवार को उत्तराखंड के कसौली आए थे। यहां उन्होंने खुशवंत सिंह लिटफेस्ट में शिरकत की और विवादित बयान दिया।

इसके बाद उनकी काफी आलोचना की जा रही है। कार्यक्रम में चर्चा के दौरान सिद्धू ने पाकिस्तान यात्रा को कई मायनों में दक्षिण भारत से बेहतर बताया। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में न भाषा बदलती है और न ही लोग बदलते हैं। सिद्धू बोले, दक्षिण भारत में जाने पर भाषा से लेकर खानपान तक सबकुछ बदल जाता है। उन्होंने कहा, आपको वहां रहने के लिए अंग्रेजी या तेलुगु सीखनी पड़ेगी, लेकिन पाकिस्तान में ये जरूरी नहीं हैं।

इस बयान के बाद सोशल मीडिया पर ​सिद्धू के खिलाफ काफी लोगों ने प्रतिक्रिया दी। एक यूजर ने लिखा है कि अपने देश के भूभाग, भाषा, खानपान और संस्कृति की ऐसे देश से तुलना करना जो पूरी दुनिया में आतंकवाद के लिए जाना जाता है, काफी हैरान करता है। सिद्धू अब एक राजनेता हैं। उन्हें सोच-समझकर अपनी बात कहनी चाहिए।

एक अन्य यूजर ने कहा कि सिद्धू को पाकिस्तान का इतिहास गंभीरता से पढ़ना चाहिए। वे पाकिस्तान की जिन बातों को उसकी खू​बी बता रहे हैं, उन्हीं की वजह से 1971 में पूर्वी पाकिस्तान इनसे अलग होकर बांग्लादेश बन बन गया था। कई यूजर्स ने पाकिस्तान में हिंदू और सिखों के उत्पीड़न का भी जिक्र किया है।

बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथग्रहण समारोह में गए थे। वहां उन्होंने पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल बाजवा को गले लगाया ​था, जिसके बाद भारत में उनके खिलाफ तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की गई। कांग्रेस के ही कई नेताओं ने इस पर नाराजगी जताई थी।

ये भी पढ़िए:
– प्रधानमंत्री मोदी को जान से मारने की धमकी, दिल्ली पुलिस कमिश्नर को मिला ईमेल
– फिर मंडराया हैकिंग का खतरा, अब फेसबुक के 2.90 करोड़ यूजर्स का डेटा चोरी
– थरूर की अंग्रेजी पर भारी मोदी की संस्कृत! सोशल मीडिया पर छिड़ी जोरदार बहस
– सर्वे: 67 प्रतिशत लोगों ने माना, मोदी के राज में सही दिशा में जा रहा है भारत

LEAVE A REPLY