दक्षिण भारत न्यूज नेटवर्कबेंगलूरु। लिंगराजपुरम् के केएसएफसी लेआउट में सीरवी सेवा संघ ट्रस्ट लिंगराजपुरम् के तत्वावधान में बने विशाल शिखरबद्ध संगमरमर के आईमाता मंदिर का पाट व प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव अपने रंग में रंगने लगा है। मंदिर से लेकर कार्यक्रम स्थल काचरकनहल्ली के दक्षिण अयोध्या खेलकूद मैदान तक लोगों का आना जाना शुरु हो गया है। ब़डी संख्या में राजस्थानी वेशभूषा में सजे धजे लोग यहां पहुंच रहे हैं। स्थानीय लोग कौतुक भरी नजरों से राजस्थानी लोगों को निहार रहे हैं। १० हजार वर्गफीट से भी ब़डे विशाल सभा हॉल में महिलाएं सिर ढके हुए विभिन्न आभूषणों से सजी हुईं, राजस्थान से आए बुजुर्ग सिर पर विभिन्न रंगों की पग़डी पहने, धोती, कुर्ता पहनावे में कार्यक्रम के कीमती मेहमान हैं। केएसएफसी लेआउट से लेकर कार्यक्रम स्थल तक विशाल स्वागत द्वार लगाए गए हैं जो अपने आप में आकर्षण का केन्द्र हैं।सिरोही के शिल्पकार सुभाषकुमार, वीसाराम के नेतृत्व में अनेकों कारीगर लगभग दो साल की क़डी मेहनत के बाद आई माता मंदिर का सुन्दर स्वरुप सभी के सामने लाए हैं। लगभग ४००० वर्गफीट के क्षेत्र में सुन्दर मंदिर का निर्माण हुआ है। मंदिर के द्वार पर बने दो विशाल हाथी सभी को अपनी ओर आकर्षित करते हैं। १७ फरवरी को इस मंदिर में लगभग सा़ढे तीन फीट की सुन्दर माता भवानी के स्वरुप में आईमाता की मूर्ति की स्थापना होने जा रही है। सात दिवसीय महोत्सव कार्यक्रम में विभिन्न धार्मिक अनुष्ठान पूरा करने के लिए जोधपुर से आचार्य पंडित प्रेमप्रकाश दवे एवं उनके सहयोगी विद्वान उपाचार्य पंडितों ने मंगलवार को महाशिवरात्रि के मौके पर शिव रुद पूजन हवन कराया। विशाल यज्ञ क्षेत्र में विभिन्न वेदियों पर लाभार्थियों ने अपने परिवार के साथ मिलकर हवन में आहूतियां दी। सीरवी सेवा संघ ट्रस्ट लिंगराजपुरम् के अध्यक्ष पी. लक्ष्मण पंवार, सचिव अमरचन्द सानपुरा, उपाध्यक्ष द्वय नारायणलाल परिहार एवं रतनलाल गेहलोत, सहसचिव हनुमान राठौ़ड, कोषाध्यक्ष बाबूलाल गेहलोत की देखरेख में अनेकों युवा कार्यकर्ता कार्यक्रम को सफल बनाने में जुटे हुए हैं। रास्ते में प्रतिष्ठा महोत्सव के चलते ब़ढती भी़ड के कारण लोगों को ट्रॉफिक में कोई परेशानी न हो इसके लिए नवयुवक मंडल के सदस्यों ने मिलकर जगह जगह पर अपने कार्यकर्ताओं को लगाया है। लोगों को वाहनों की पार्किंग के लिए दिशा निर्देश देना, वाहनों को उचित पार्क करना आदि जरूरी कार्यों में नवयुवक मंडल विशेष योगदान दे रहा है।कार्यक्रम में सान्निध्य देने के लिए आईपंथ के धर्मगुरु दीवान माधवसिंहजी का बेंगलूरु आगमन हो चुका है। मंगलवार से स्टेज कार्यक्रमों का आगाज हो गया है। शाम के समय दक्षिण अयोध्या खेलकूद मैदान में सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति हुई जिसमें ब़डी संख्या में लोगों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। बुधवार को प्रतिष्ठा महोत्सव के तहत धार्मिक अनुष्ठान में मातृका व महालक्ष्मी पूजन हवन का आयोजन होगा। १६ फरवरी को होने वाली शोभायात्रा अपने आप में अद्भुत होगी जिसके लिए समिति के सदस्य जी जान से जुटे हुए हैं। लगभग ५ किलोमीटर लम्बी यह शोभायात्रा दक्षिण अयोध्या खेलकूद मैदान से शुरु होकर हेन्नुर बस डिपो के सामने से होते हुए, सीएमआर रोड, मरियाप्पा सर्कल, ८० फीट रो़ड, ॐ शक्ति मंदिर, नेहरू रो़ड, कुल्लाप्पा सर्कल उल्लासाप्पा सर्कल, विनायका टेम्पल रो़ड, आईमाता टेम्पल रो़ड होते हुए नवनिर्मित आई माता मंदिर होते हुए पुन: मैदान में पहुंचेगी। शोभायात्रा में राजस्थान की झलक देखने को मिलेगी।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY