दक्षिण भारत न्यूज नेटवर्ककृष्णगिरि। यहां के कृष्णगिरि पार्श्व पद्मावती शक्तिपीठ तीर्थधाम में बन रहे ३६५ फीट ऊंचे श्री पार्श्व महाचैत्यालय, २३ फीट कायायुक्त ४ वर्णीय चतुर्मुख श्री पार्श्वनाथ प्रभु सहित अनेक देवी-देवताओं की प्रतिमाओं की स्थापना समारोह का आगाज मंगलवार को पीठाधीपति डॉ वसंतविजयजी म.सा. की निश्रा व मार्गदर्शन में हुआ । इस मौके पर उपप्रवर्तकश्री पंकजमुनिजी, साध्वीश्री आत्मदर्शनाजी, संयमलताजी, लक्षज्ञाश्रीजी, पार्श्वप्रज्ञाजी, हर्षितप्रज्ञाजी सहित अनेक साधु-साध्वीवृंद पहंुच चुकी हैं। महोत्सव के पहले दिन मंगलवार को कुंभ स्थापना, दीपक स्थापना व सिद्धचक्र महापूजन हुआ। पहले दिन स्वर्णवर्णीय पार्श्वप्रभु की प्रतिमा को मंदिर के आधार स्तंभ पर स्थापित किया गया। चेन्नई व बेंगलूरु के आई विशालकाय क्रेन व कुशल कारीगरों की सहायता से २३ फीट ऊंची व कई टन भारी इस प्रतिमा को बिना किसी व्यवधान के डॉ वसंतविजयजी म.सा. के मार्गदर्शन में मंदिर के गंभारे के आधार पर स्थापित किया गया। बुधवार को स्वर्णवर्णीय पार्श्वप्रभु व श्री तीर्थंकर महापूजन होगा। महोत्सव के पहले दिन तीर्थ स्थल में मेले जैसा माहौल था। वसंतविजयजी ने अनेक साधु साध्वियों के साथ मिलकर कांच मंदिर में विभिन्न पूजा अनुष्ठान किए। अश्विनगुरुजी ने विधिविधान कराये तथा पूजन के दौरान संगीत की प्रस्तुति उमेशभाई एंड पार्टी ने दी। इस मौके पर तीर्थ धाम की विशेष सजावट की गई है। शाम को मंदिर में देश के विभिन्न ख्याति प्राप्त कलाकारों द्वारा भजनों की प्रस्तुति दी जा रही है। कार्यक्रम का सीधा प्रसारण प्रतिदिन दोपहर २ से ५ बजे तक पारस चैनल पर हो रहा है।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY