दक्षिण भारत न्यूज नेटवर्कबेंगलूरु। यहां के आउवा जैन महिला मंडल की मासिक गोष्ठी चामराजपेट स्थित एक सदस्या के निवास पर सम्पन्न हुई जिसमें होली व शीतला माता महत्त्व विषय पर चर्चा हुई। बिन्दु रायसोनी ने कहा कि होली का त्यौहार उत्साह व उमंग का त्यौहार है। अष्टमी, शीतला माता दिन है। शीतल नाम से ही शीतलता की प्राप्ति होती है तथा शीतला माता की पूजा से अनेक भयानक बीमारियों से बचा जा सकता है। परिवार के बच्चों के मंगल स्वास्थ्य के लिए शीतलाष्टमी का पर्व मनाया जाता है। बैठक में इस वर्ष भी ८ मार्च को महिला दिवस मनाने का निर्णय लिया गया। सभी उपस्थित सदस्याओं ने एक दूसरे को पर्व की शुभकामनाएं दी। अध्यक्ष श्रीमती शारदा पावेच्छा ने सभी का स्वागत किया। कोषाध्यक्ष निर्मला मांडोत ने विषय प्रस्तुति दी। उमा रायसोनी ने शीतला सप्तमी की पूजा व महत्त्व बताया। शीतला माता के सामूहिक गीत के साथ बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में आयोजित विभिन्न मनोरंजक प्रतियोगिताओं की विजेताओं को सुनीता पोरवाल द्वारा पुरस्कृत किया गया। अक्षिता पोरवाल ने सभी को धन्यवाद दिया।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY