श्रीनगर। सेना को सोमवार को उस समय ब़डी सफलता मिली जब उसने जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी मुफ्ती वकास को ढेर कर दिया गया। वकास को पिछले महीने सुंजवान स्थित सेना शिविर हमले का मास्टरमाइंड बताया जा रहा है। पुलवामा के अवंतिपोरा क्षेत्र में सेना की ५० राष्ट्रीय राइफल्स और विशेष कार्रवाई दल (एसओजी) के संयुक्त अभियान में सुंजवान हमले का मास्टरमाइंड मारा गया। इस अभियान में एक पुलिसकर्मी के घायल होने के भी समाचार हैं उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है।जैश का यह आतंकवादी ’’ए प्लस प्लस’’ ग्रेड का आतंकवादी था। वकास का १० फरवरी को सेना के दक्षिण कश्मीर के लेथीपोरा सीआरपीएफ शिवर और जम्मू के सुंजवान सेना शिविर पर हमला करने में मुख्य हाथ था। पचास घंटे तक चली सेना और आतंकवादियों के बीच इस मुठभे़ड में पांच सेनाकर्मियों समेत कुल छह लोग मारे गए थे जिसमें दो जेसीओ और एक सैनिक का पिता शामिल था। अधिकारियों के अनुसार सेना को सोमवार पुलवामा के अवंतिपोरा के हटवार में वकास की मौजूदगी की जानकारी मिली थी। इसके बाद ५० राष्ट्रीय राइफल्स, एसओजी और केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफा) ने संयुक्त अभियान के तहत क्षेत्र को घेरा और इस दौरान आतंकवादी ने सुरक्षा बलों पर गोलियां चलाई। सेना ने जवाब कार्रवाई में वकास को ढेर कर दिया। वकास पाकिस्तानी है और उसके कब्जे से आईईडी बनाने का सामान, घातक हथियार और अन्य वस्तुएं बरामद की गई हैं। वकास कश्मीर घाटी में पिछले साल घुसपैठ करके आया था।

LEAVE A REPLY