मंडला (मप्र)/भाषाबारह साल से कम उम्र की बच्चियों के साथ दुष्कर्म करने वालों को फांसी देने के प्रावधान के लिए अध्यादेश लागू होने का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार कहा कि कानून बनाने के साथ ही हमें परिवार में भी बेटियों के लिए सुरक्षा का वातावरण बनाना होगा। मध्य प्रदेश के आदिवासी बहुल मंडला जिले के रामनगर में राष्ट्रीय पंचायत राज सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए मोदी ने कहा, भारत सरकार ने बालिकाओं के साथ दुष्कर्म करने वाले राक्षसी प्रवृत्ति के लोगों को फांसी देने का प्रावधान किया है। जब शिवराज जी (मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री) यहां यह बात कह रहे थे तो मैं देख रहा था लोग इसका भारी समर्थन कर रहे हैं।मोदी ने कहा, दिल्ली में ऐसी सरकार है जो आपके दिल की बात सुनती है और निर्णय लेती है। प्रधानमंत्री ने परिवार में बेटियों के लिए सुरक्षा का वातावरण बनाने पर जोर देते हुए कहा, परिवार में बेटों को जिम्मेदारी सिखायेंगे तो बेटियों की सुरक्षा कठिन नहीं होगी। हमें परिवार में भी बेटियों के लिए सुरक्षा का वातावरण बनाना होगा। इस हेतु समाज में एक माहौल बनाना होगा और देश को इस मुसीबत से निकालना होगा। मोदी ने पंचायत जनप्रतिनिधियों से कहा कि उन्हें अपने गांव के किसानों को कृषि में आत्मनिर्भरता हासिल करने के लिए शिक्षित करना चाहिए। उन्होंने कहा, पहले बांस को एक पे़ड माना जाता था, इसलिए गांव में इसका उपयोग नहीं हो पाता था। लेकिन केन्द्र सरकार ने अब इसे घास की श्रेणी में कर दिया है। अब किसान अपने खेत की मे़ड पर बांस उगाकर अतिरिक्त आय अर्जित कर सकता है। देश प्रतिवर्ष १२,००० से १५,००० करो़ड रूपए के बांस का आयात करता है।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY