नई दिल्ली। अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी, जिसके नेताओं पर २० से ज्यादा मानहानि के मामले दर्ज हैं, ने उन मामलों को निपटाने का फैसला किया है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने अपने ऊपर चल रहे सभी मानहानि के मामलों को खत्म करने के लिए सभी संबधित नेताओं से बात करेंगे। अरुण जेटली, नितिन गडकरी समेत कई नेताओं ने केजरीवाल पर मानहानि के मुकदमे कर रखे हैं। दिल्ली सरकार के सूत्रों के मुताबिक मुख्यमंत्री केजरीवाल को रोजाना अदालत में घंटों बर्बाद करने प़ड रहे हैं जिससे उनका कामकाज प्रभावित हो रहा है। इसलिए अब सभी मुकदमे खत्म करने के लिए कोशिश करेंगे।मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा पंजाब के पूर्व कैबिनेट मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया से माफी मांगे जाने के बाद पार्टी के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि पार्टी ऐसे सभी मामलों में माफी मांगेगी। गौरतलब है कि केजरीवाल ने मजीठिया पर ड्रग्स के धंधे में संलिप्तता का आरोप लगाया था। केजरीवाल ने अकाली दल के नेता मजीठिया को लिखे ’’माफीनामे’’ में लिखा है, ’’अब मैं जान गया हूं कि सारे आरोप निराधार हैं, इसलिए मैं आपके खिलाफ लगाए गए सभी आरोप और बयान वापस लेता हूं और उनके लिए माफी भी मांगता हूं।‘ गत सात महिनों में मानहानि के मामलों में केजरीवाल द्वारा दूसरी बार माफी मांगी गई है और आम आदमी पार्टी के सूत्रों ने बताया कि पार्टी अब मानहानि के सभी मामलों को इसी तरीके से सुलझाने की कोशिश करेगी।पिछले साल अगस्त में केजरीवाल ने हरियाणा के भाजपा नेता अवतार सिंह भदाना से मानहानि का मामला खत्म करने को लेकर माफी मांगी थी। उन्होंने वर्ष २०१४ में भदाना को भ्रष्ट कहा था। दिल्ली के मुख्यमंत्री के खिलाफ वित्त मंत्री अरुण जेटली ने अलग से मानहानि का दावा किया था क्योंकि केजरीवाल ने अरुण जेटली पर दिल्ली क्रिकेट एसोसिएशन के प्रमुख के रूप में उनके १३ साल के कार्यकाल के दौरान भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY