नई दिल्ली। ऐतिहासिक विजय चौक आज बीटिंग रिट्रीट के मौके पर तीनों सेनाओं, सशस्त्र बलों तथा पुलिस के बैंड की मधुर धुनों से सराबोर हो गया और सूर्यास्त के साथ ही आस-पास की इमारतें रंग बिरंगी रोशनी में नहा उठीं। बीटिंग रिट्रीट कार्यक्रम पूरा होने के साथ ही चार दिन से चले आ रहे गणतंत्र दिवस समारोह का समापन हो गया। गणतंत्र दिवस समारोह का समापन करने वाले इस कार्यक्रम की शुरूआत राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के विजय चौक पहुंचने पर हुई। समारोह में उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, उनके मंत्रिमंडल के सहयोगी तथा तीनों सेनाओं के प्रमुख भी मौजूद थे। इस दौरान की गई २६ प्रस्तुतियों में से २५ की धुनें भारतीय संगीतकारों ने तैयार की थीं। कार्यक्रम में १८ मिलिट्री बैंडों और १५ पाइप और ड्रम बैंडों के साथ वायु सेना तथा नौसेना के एक एक बैंड ने अपनी मनमोहक प्रस्तति से दर्शकों को अभिभूत कर दिया। इस रंगारंग प्रस्तुति का समापन हर दिल अजीज ’’सारे जहां से अच्छा’’ के साथ हुआ और इसी के साथ आस पास की इमारतें बहुरंगी रोशनी में नहा गई। बीटिंग रिट्रीट समारोह की शुरूआत वर्ष १९५० के दशक में हुई थी। यह सदियों पुरानी उस सैन्य परंपरा का प्रतीक है युद्ध समाप्त करके सैनिकों के शिविरों में लौटने पर मनाई जाती है।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY