sabarimala temple
sabarimala temple

तिरुवनंतपुरम। केरल के सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर विवाद बढ़ता जा रहा है। काफी लोग इस मामले को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, मंदिर में महिलाओं का प्रवेश रोकने के लिए ‘सेव सबरीमाला’ अभियान चलाने वाले राहुल ईश्वर नामक शख्स को हिरासत में लिया गया है। उसके अलावा दूसरे लोग विरोध प्रदर्शन में जुटे हैं।

ऐसी भी तस्वीरें आई हैं जिनमें कहा गया है कि प्रदर्शनकारी मंदिर की ओर आ रहीं बसों को रोक रहे हैं। कुछ लोगों ने पथराव भी किया है। मीडिया के वाहनों को निशाना बनाया जा रहा है। एक वाहन के साथ तोड़फोड़ की गई। प्रदर्शनकारी पंबा बेस कैंप आकर विरोध जता रहे थे। पुलिस ने उन्हें वहां से हटाने की कोशिश की।

प्रदर्शनकारियों ने पंबा बेस कैंप में महिलाओं को देखकर उन्हें घर लौट जाने के लिए कहा। उन्होंने महिलाओं के प्रवेश पर विरोध जताया। इसके अलावा नल्लिकेल और पंबा बेस कैंप पर भारी तादाद में पुलिसबल तैनात किया गया है ताकि किसी भी स्थिति से निपटा जा सके। हालांकि इसके बावजूद प्रदर्शनकारियों के तेवर तीखे हैं और वे मंदिर की परंपरा में बदलाव का विरोध कर रहे हैं।

प्रदर्शनकारियों ने आंध्र प्रदेश से आए एक परिवार का तीखा विरोध किया। परिवार में कुछ महिलाएं भी थीं जो बुधवार शाम को मंदिर के पट खुलने के अवसर पर भगवान के दर्शन करना चाहती थीं, लेकिन उनको बीच रास्ते से ही लौटना पड़ा।

उच्चतम न्यायालय 28 सितंबर को अपने ऐतिहासिक फैसले में कह चुका है कि सबरीमाला मंदिर में प्रवेश से किसी भी महिला को नहीं रोका जा सकता। इससे पहले मंदिर में यह परंपरा थी जिसके तहत 10 से 50 साल की उम्र वाली महिलाओं को प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाती थी। उस फैसले के बाद ये प्रदर्शनकारी महिलाओं के प्रवेश पर ऐतराज जता रहे हैं।

ये भी पढ़िए:
– अधूरे ही रह गए रावण के ये 7 सपने, इन्हें बनाना चाहता था हकीकत!
– अंग्रेजी गाने पर डांस कर नोरा फतेही ने मचाया इंटरनेट पर धमाल, मिल चुके लाखों लाइक
– 30 लाख की लागत से बना दिया 215 फीट ऊंचा रावण, दशहरे से पहले ही सेल्फी में छाया
– अकबर के फैसले को योगी ने बदला, अब इलाहाबाद का आधिकारिक नाम प्रयागराज

LEAVE A REPLY