मुंबई। बैंकिंग हमारे जीवन के लिए बेहद जरूरी है, लेकिन जब हम खाते में न्यूनतम बैलेंस नहीं रख पाते तो बैंक जुर्माना वसूलते हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार, वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान सार्वजनिक क्षेत्र के 21 और निजी क्षेत्र के तीन बड़े बैंकों ने खाते में न्यूनतम बैलेंस न रखने पर खाताधारकों से इतनी रकम वसूली है कि आप हैरान रह जाएंगे।

यह रकम कुछ लाख में नहीं है, बल्कि करोड़ों में है। बैंकों ने इस अवधि में खाताधारकों से करीब 5 हजार करोड़ रुपए वसूल किए हैं। इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि कितने खाताधारक अपने खाते में न्यूनतम बैलेंस नहीं रख पाते और इससे बैंकों के लिए अतिरिक्त कमाई का रास्ता खुल जाता है।

इन बैंकों में जुर्माना वसूलने में पहले स्थान पर भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) रहा है। उसके द्वारा वसूली गई राशि 2,433.87 करोड़ रुपए है यानी यह इन 24 बैंकों द्वारा वसूली गई राशि (4,989.55 करोड़ रुपए) का करीब आधा है। एसबीआई जुर्माना वसूलने में सर्वोच्च स्थान पर है।

चूंकि पिछले वित्त वर्ष में एसबीआई को 6,547 करोड़ रुपए का नुकसान भी हुआ था। इस तरह बैंक ने अपने ग्राहकों से जुर्माना वसूलकर आधे से कम घाटे को पूरा किया। इसके बाद ग्राहकों से जुर्माना वसूलने में एचडीएफसी का स्थान है। उसने 590.84 करोड़ रुपए खाताधारकों से वसूल किए हैं। निजी क्षेत्र के इस बैंक ने जुर्माने से ही करोड़ों रुपए कमा लिए।

एचडीएफसी के बाद एक्सिस बैंक ने 530.12 करोड़ रुपए जुर्माने के तौर पर वसूले हैं। यह एचडीएफसी से करीब 60 करोड़ रुपए कम है लेकिन बहुत बड़ी राशि है। जुर्माना वसूलने में निजी क्षेत्र का बैंक आईसीआईसीआई भी पीछे नहीं है। उसने खाताधारकों से 317.60 करोड़ रुपए वसूले हैं। इस रिपोर्ट के बाद सोशल मीडिया पर यह मांग उठ रही है कि आरबीआई को न्यूनतम बैलेंस रखने के संदर्भ में और आसान नियम बनाने चाहिए।

बैंकिंग सेवाओं का विस्तार होने से देश की प्रगति होती है लेकिन जब इतनी बड़ी रकम बतौर जुर्माना वसूली जाए तो लोग बैंकिंग में रुचि लेने से बचते हैं। आज भी हमारे देश में ऐसे करोड़ों लोग हैं जो खाता तो खोलना चाहते हैं लेकिन न्यूनतम बैलेंस रखना उनके लिए संभव नहीं है।

जरूर पढ़िए:
– रिक्शावाले ने कायम की ईमानदारी की मिसाल, सोना-हीरा और रुपयों से भरा बैग लौटाया
– बुआ, बबुआ और रा​​हुल मिल जाएं तो भी भाजपा उ.प्र. से जीतेगी 74 सीटें: शाह
– मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाने के लिए बुजुर्ग ने मांगी मनौती, पेट के बल कर रहे 90 किमी यात्रा

Facebook Comments

LEAVE A REPLY