बेंगलूरु। गैर निष्पादित परिसंपत्तियों (एनपीए) का बोझ ब़ढने से सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक केनरा बैंक का शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की ३१ दिसंबर को समाप्त तिमाही में ६०.९३ प्रतिशत घटकर १२५.७५ करो़ड रुपए हो गया। गत वित्त वर्ष की समान तिमाही में यह ३२१.८८ करो़ड रुपये रहा था। बैंक द्वारा बुधवार को जारी तिमाही परिणाम के अनुसार, आलोच्य तिमाही में उसकी कुल आमदनी १२,०७९.३७ करो़ड रुपए से ब़ढकर १२,३४१.०९ करो़ड रुपए हो गया। उसका कुल खर्च १०,०९८.०४ करो़ड रुपए से घटकर ९,५०९.७० करो़ड रुपये रह गया। बंैक के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी राकेश शर्मा ने कहा कि समाप्त तिमाही के दौरान नेट प्रॉफिट १.२६ अरब रुपये (१९.७८ मिलियन डॉलर) पर आ गया, जबकि एक साल पहले यह ३.२२ अरब रुपये था। उन्होंने कहा कि तीसरी तिमाही बैंक का शुद्ध लाभ ४२.०९ प्रतिशत बढा जो पिछले वर्ष की समान तिमाही के ३२२ करो़ड रुपए की तुलना में १२६ करो़ड रुपए रहा। बैंक पर इस दौरान एनपीए का बोझ ब़ढा है। बैंक का सकल एनपीए ९.९७ प्रतिशत से ब़ढकर १०.३८ प्रतिशत और शुद्ध एनपीए ६.७२ प्रतिशत से ब़ढकर ६.७८ प्रतिशत हो गया।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY