मुंबई। देश में आॅनलाइन लेनदेन में बढ़ोतरी के साथ ही कई चुनौतियां भी पैदा हो रही हैं। अब सायबर ठग लोगों को इसके जरिए लूट रहे हैं। इसके लिए वे कुछ खास तकनीक का इस्तेमाल कर लोगों को अपने झांसे में ले रहे हैं। जो लोग फंस जाते हैं, वे उनका खाता खाली करने से भी नहीं चूकते। देश में हर रोज ऐसी घटनाएं बढ़ती जा रही हैं जब किसी ठग ने फोन कर एटीएम कार्ड या खाते को अपडेट करने के लिए गोपनीय जानकारी हासिल की, फिर हजारों या लाखों रुपए निकाल लिए।

इन दिनों ठगों ने एक और शातिर तरीका अपनाया है। चूंकि भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) देश का बहुत बड़ा बैंक है और छोटे कस्बों तक में इसकी शाखाएं हैं। इसलिए ठग एसबीआई के ग्राहकों को ठगने के लिए आॅनलाइन तकनीकी का इस्तेमाल कर रहे हैं। एसबीआई ने अपने ग्राहकों को इनसे सचेत रहने के लिए कहा है। सायबर ठग एसबीआई के नाम से लोगों को फर्जी एसएमएस भेज रहे हैं।

इन मैसेज के जरिए ठग बहुत शातिर अंदाज में ग्राहकों से जरूरी जानकारी मांगते हैं। साथ ही यह धमकी भी चेतावनी के तौर पर लिखते हैं कि उन्होंने जानकारी न दी तो खाता बंद किया जा सकता है या रकम जब्त की जा सकती है। बैंक ने कहा है कि अपने खाते से संबंधित कोई भी जानकारी किसी को न दें। बैंक कभी अपने ग्राहकों से खाता संबंधी कोई जानकारी नहीं मांगता, क्योंकि यह उसके पास पहले ही होती है।

सायबर ठग इसके लिए ईमेल और वॉट्सअप तक का इस्तेमाल करते रहे हैं। इसके लिए वे एक लिंक बनाते हैं, जिसके जरिए बैंक खाते की गोपनीय जानकारी भरनी होती है। एक बार जब कोई खाताधारक अपने खाते की जानकारी भर देता है, तो वह ठगों के पास पहुंच जाती है। जब तक उसे असलियत मालूम होती है, काफी देर हो जाती है।

जरूर पढ़िए:
– विभाजन के दौरान कराची के इन पंचमुखी हनुमान ने बचाए थे अपने कई भक्तों के प्राण
– न्यूनतम राशि न रखने पर जुर्माना लगा बैंक हो गए मालामाल, कर ली करोड़ों की कमाई
– मेहुल चोकसी मामले में भारत को बड़ी कामयाबी, एंटीगुआ से की प्रत्यर्पण संधि!
– आतंकी 15 अगस्त को दिल्ली में करना चाहते थे धमाके, पुलिस ने युवक से बरामद किए 8 ग्रेनेड

Facebook Comments

LEAVE A REPLY