लंदन। एक भारतीय परिवार ने ब्रिटिश एयरवेज पर नस्लीय भेदभाव का आरोप लगाया है। परिवार का आरोप है कि एयरवेज ने उन्हें इस वजह से फ्लाइट से नीचे उतार दिया क्योंकि उनका तीन साल का बच्चा रो रहा था। बच्चे की मां ने उसे चुप कराने की कोशिश की, लेकिन वह रोए जा रहा था। इसके बाद केबिन क्रू के सदस्य ने बच्चे को धमका दिया। इससे वह और ज्यादा रोने लगा।

फिर परिवार को विमान से नीचे उतार दिया गया। परिवार ने इस घटना की शिकायत की है और ​ब्रिटिश एयरवेज पर नस्लीय भेदभाव का आरोप लगाया है। यह फ्लाइट लंदन से ​बर्लिन जा रही थी। घटना 23 जुलाई की बताई जा रही है जो अब प्रकाश में आई है। परिवार ने विमानन मंत्री सुरेश प्रभु से इसकी शिकायत की है। उनका कहना है कि एयरलाइन ने उनका अपमान किया।

वहीं ब्रिटिश एयरवेज ने इस घटना को गंभीरता से लिया है। उसके प्रवक्ता ने कहा कि इस दावे की गंभीरता से जांच की जा रही है। अगर कोई दोषी पाया गया तो उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि एयरवेज संबंधित परिवार से संपर्क में है। परिवार ने सुरेश प्रभु को लिखे पत्र में कहा कि जैसे ही सीट बेल्ट लगाने घोषणा हुई, बच्चे की मां ने उसे सीट बेल्ट बांधी। इससे बच्चा रोने लगा।

इसके बाद महिला ने उसे गोद में लेकर चुप कराने की कोशिश की। यह देख पुरुष क्रू का सदस्य उनके पास आया और गुस्से से चिल्लाने लगा। उसने बच्चे को डांटा। इससे बच्चा डरकर और ज्यादा रोने लगा। वह सदस्य फिर उनके पास आया और बच्चे को धमकाते हुए बोला, चुप हो जाओ वरना तुम्हें खिड़की से नीचे फेंक दूंगा। फिर परिवार को नीचे उतार दिया गया। परिवार को लंदन पहुंचने में बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

जरूर पढ़िए:
– दिखने लगा मोदी सरकार के सुधारों का असर, आईएमएफ बोला- दौड़ रही भारतीय अर्थव्यवस्था
– न इंटरनेट की जरूरत, न दफ्तरों के चक्कर, सिर्फ एक मिस्ड कॉल से जानें पीएफ की रकम
– भारत पर परमाणु हमले की सलाह दे चुकी यह महिला बन सकती है पाक की नई रक्षा मंत्री

LEAVE A REPLY