kalpana tiwari and vivek
kalpana tiwari and vivek

लखनऊ। यहां 28 सितंबर की रात को गोलीकांड में मारे गए एपल के सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी की पत्नी कल्पना ने सोमवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की। मुख्यमंत्री से बातचीत के बाद कल्पना ने कहा है कि उन्हें पूरी मदद का भरोसा दिया है। बता दें कि उत्तर प्रदेश पुलिस के कांस्टेबल प्रशांत चौधरी पर आरोप है कि उसकी गोली से विवेक की मौत हुई है।

प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा कल्पना तिवारी और उनके भाई विष्णु शुक्ला को लेकर मुख्यमंत्री के आवास पर पहुंचे। यहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीड़ित परिवार को पूरी मदद का भरोसा दिलाया। मुलाकात के दौरान दिनेश शर्मा भी वहीं थे। इसके बाद कल्पना तिवारी ने मीडिया से कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात के बाद राज्य सरकार पर हमारा भरोसा बढ़ा है। उन्होंने बताया कि सरकारी नौकरी के संबंध में भी मुख्यमंत्री से बातचीत हुई है। मुख्यमंत्री ने मदद का पूरा भरोसा दिया है।

योगी ने कहा बहन: कल्पना तिवारी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने उन्हें फोन किया और बहन कहते हुए संबोधित किया था। साथ ही यह भी पूछा कि बताइए कहां आना है। कल्पना ने कहा कि वे इस घटना के पहले दिन से ही मुख्यमंत्री से मिलना चाहती थीं। योगी ने उन्हें हरसंभव सुविधा का भरोसा दिलाया और इस दुखद घटना पर खेद भी जताया।

कल्पना ने बताया कि योगी आदित्यनाथ ने फोन पर कहा था कि वे घर पर उनसे मिलने आ रहे हैं लेकिन बाद में उन्होंने ही मुख्यमंत्री को इसके लिए मना कर दिया। कल्पना ने कहा कि घर बहुत छोटा और काफी लोग इकट्ठे हैं तो ऐसे में ठीक तरह से बात नहीं हो पाएगी। इसलिए उन्होंने ही मुख्यमंत्री आवास जाने का फैसला किया। कल्पना ने कहा कि उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा आए और सम्मानपूर्वक उन्हें लेकर गए।

मुख्यमंत्री का जताया आभार: कल्पना ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से हुई बातचीत के बारे में बताया कि उन्होंने परिवार को ढांढस बंधाया और कहा कि जो हुआ है उसके लिए हम कितना पछता रहे हैं, कितने शर्मिंदा हैं, हम जानते हैं। उसकी कोई क्षतिपूर्ति नहीं कर सकता है। मुख्यमंत्री ने बताया कि घटना के आरोपी दोनों कांस्टेबल बर्खास्त कर दिए गए हैं और अब वे जेल मे हैं।

मीडिया से बातचीत में कल्पना ने कहा कि मुझे कुछ समझ ही नहीं आ रहा था, लेकिन मुख्यमंत्री से मिलने के बाद कुछ ढांढस बंधा कि जो जिम्मेदारियां मेरे पति छोड़ कर गए हैं, शायद मैं उन्हें पूरा कर पाऊंगी। इसके लिए मैं मुख्यमंत्री की आभारी हूं।

सरकार देगी यह मदद: उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने बताया कि इस मामले में दोषियों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई हो रही है। उन्होंने कहा कि कल्पना को सरकारी नौकरी दी जाएगी। उनके परिवार को बतौर मदद 25 लाख रुपए दिए जाएंगे। दोनों बच्चियों के नाम पर पांच-पांच लाख रुपए की एफडी करवाई जाएगी।

गौरतलब है कि विवेक की मौत के बाद उनके परिजनों और स्थानीय लोगों में पुलिस के खिलाफ गहरा आक्रोश था। देशभर में लोग इस घटना की निंदा कर रहे थे। विवेक के परिवार ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बुलाने की मांग की थी। अब परिजनों की उनसे मुलाकात के बाद उनमें इनसाफ के लिए उम्मीद जगी है। ​विवेक का अंतिम संस्कार रविवार को हो गया। इस मामले की जांच एसआईटी को सौंपी गई है।

बता दें कि लखनऊ गोलीकांड के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने विवादास्पद ट्वीट किया था, जिस पर कल्पना तिवारी ने नाराजगी व्यक्त की और कहा, हर चीज को जातिवाद से नहीं जोड़ना चाहिए, क्योंकि मोदीजी की सरकार में कभी जातिवाद को बढ़ावा नहीं मिला है। हर वर्ग का और हर तबके का ध्यान रखा गया है।

ये भी पढ़िए:
– छोटे कारोबारियों को मोदी सरकार देगी बड़ी सौगात, बिना बैंक गए 1 घंटे में मिलेगा लोन
– दुर्घटना पीड़ितों की मदद पर पुलिस नहीं करेगी परेशान, राष्ट्रपति ने दी विधेयक को मंजूरी
– लखनऊ गोलीकांड: केजरीवाल के ट्वीट से खफा विवेक की पत्नी बोलीं- हर चीज को जातिवाद से न जोड़ें
– इमरान से मिलने आए थे कुवैती मेहमान, पाकिस्तानी अफसर ने चुरा लिया बटुआ, देखिए वीडियो

LEAVE A REPLY