india wins series
india wins series

वेलिंगटन/भाषा। अंबाती रायुडु की विषम परिस्थितियों में खेली गई ब़डी अर्धशतकीय पारी और हार्दिक पंड्या के आलराउंड खेल से भारत ने पांचवें और अंतिम एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में रविवार को यहां न्यूजीलैंड को 35 रन से शिकस्त देकर पांच मैचों की शृंखला 4-1 से जीती। भारत का शीर्ष क्रम फिर से नहीं चल पाया और एक समय उसका स्कोर चार विकेट पर 18 रन था। अंबाती रायुडु (113 गेंदों पर 90 रन) ने विजय शंकर (64 गेंदों पर 45 रन) के साथ पांचवें विकेट के लिए 98 और केदार जाधव (45 गेंदों पर 34 रन) के साथ छठे विकेट के लिए 74 रन की उपयोगी साझेदारियां करके भारत को शुरुआती झटकों से उबारा।

पंड्या ने स्लॉग ओवरों में 22 गेंदों पर पांच छक्कों की मदद से 45 रन की तूफानी पारी खेली जिससे भारत ने 49.5 ओवर में 252 रन बनाए। न्यूजीलैंड की टीम इसके जवाब में 44.1 ओवर में 217 रन ही बना पाई। उसके लिए जेम्स नीशाम ने सर्वाधिक 44 रन बनाए। भारतीय मध्यक्रम पर अच्छा प्रदर्शन करने का दबाव था और इस मैच में रायुडु की पारी ने मुख्य अंतर पैदा किया। इससे भारत ने मैट हेनरी (35 रन देकर चार) और ट्रेंट बोल्ट (39 रन देकर तीन) के झटकों के बावजूद चुनौतीपूर्ण स्कोर ख़डा करने में सफल रहा।

इसके बाद मोहम्मद शमी (35 रन देकर दो) ने न्यूजीलैंड का शीर्ष क्रम झकझोरा जबकि युजवेंद्र चहल (41 रन देकर तीन), पंड्या (50 रन देकर दो) और जाधव (34 रन देकर एक) ने मध्यक्रम के बल्लेबाजों को पारी संवारने का मौका नहीं दिया। शमी ने दोनों सलामी बल्लेबाजों हेनरी निकोल्स (आठ) और कोलिन मुनरो (24) को ज्यादा देर तक नहीं टिकने दिया। निकोल्स ने उठती हुई गेंद पर शार्ट मिडविकेट पर कैच थमाया जबकि मुनरो ने उनकी आफ स्टंप से बाहर जाती गेंद विकेटों पर खेली।

पंड्या ने ११वें ओवर में गेंद संभाली और अपनी दूसरी गेंद पर ही फार्म में चल रहे रोस टेलर (एक) को पगबाधा आउट कर दिया जिससे स्कोर तीन विकेट पर 38 रन हो गया। कप्तान केन विलियमसन (39) और टाम लैथम (37) ने बीच में 15 ओवरों में कोई विकेट नहीं गिरने दिया और इस बीच 67 रन की साझेदारी की। विलियमसन ने ऐसे में जाधव की गेंद पुल शाट से हवा में लहराई जिसे शिखर धवन ने आसानी से कैच किया।

चहल ने इसके बाद लैथम और नए बल्लेबाज कोलिन डि ग्रैंडहोम (11) को पगबाधा आउट करके कीवी टीम को बैकफुट पर भेजा। नीशाम ने शमी और भुवनेश्वर दोनों पर करारे शाट खेलकर मैच को रोमांचक बनाने की कोशिश की लेकिन रन आउट होने के साथ न्यूजीलैंड की रही सही उम्मीदों पर पानी फिर गया। जाधव ने नीशाम के खिलाफ पगबाधा की अपील की जिसे अंपायर ने ठुकरा दिया। बल्लेबाज आगे निकल गया लेकिन महेंद्र सिंह धोनी सतर्क थे और उन्होंने रन आउट करने में देर नहीं लगाई। इसके बाद भारत की जीत तय हो गई थी।

LEAVE A REPLY