कोलकाता। राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) पर विपक्ष के तीखे विरोध के बाद भाजपा के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा ने कहा है कि हमें शर​णार्थियों और घुसपैठियों में फर्क करना होगा। इनके बीच एक स्पष्ट भेद है। उन्होंने भारतीय मुसलमानों से अपील की है कि वे एनआरसी का समर्थन करने के लिए आगे आएं।

सिन्हा ने कहा है कि घुसपैठियों की रोकथाम जरूरी है, क्योंकि ये ह​मारी नौकरियां, भोजन और रोजगार रोजगार हड़प रहे हैं। उन्होंने तृणमूल कांग्रेस पर आरोप लगाया कि वह अपनी विफलताओं से लोगों का ध्यान हटाना चाहती है।

सिन्हा ने बांग्लादेश में अल्पसंख्यकों के उत्पीड़न का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा है कि हिंदू, ईसाई और बौद्ध जैसे धर्मों के लोग बांग्लादेश से धार्मिक आधार पर अत्याचार के कारण भारत आ रहे हैं। इस तरह वे शरणार्थी हैं। वहीं जो बांग्लादेश का धार्मिक बहुसंख्यक वर्ग है, वह यहां आर्थिक विकास और रोजगार का फायदा लेने आ रहा है। वे लोग घुसपैठिए हैं।

भाजपा नेता ने भारतीय मुसलमानों से कहा कि वे उनसे अनुरोध करते हैं कि एनआरसी जैसी कवायद का समर्थन करने के लिए आगे आएं। उन्होंने पश्चिम बंगाल सरकार पर आरोप लगाया कि तृणमूल के राज में यह घुसपैठियों का अड्डा बन चुका है। सिन्हा ने कहा है कि इसे रोकना होगा, क्योंकि घुसपैठिए हमारी नौकरियां, भोजन और रोजगार हड़प रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि असम में जारी एनआरसी ड्राफ्ट के बाद सियासी हलचल तेज हो गई है। विपक्ष के कई नेता खुलकर इसका विरोध जता चुके हैं। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इसका खूब विरोध किया। उन्होंने कहा है कि इससे देश में गृहयुद्ध और रक्तपात जैसी नौबत आ सकती है।

जरूर पढ़िए:
– इन 4 बुरी आदतों वाले मनुष्य के जीवन में आता है दुर्भाग्य, छोड़कर चली जाती है लक्ष्मी
– यहां लग रहा है शादियों का मेला, इतनी खूबियां हों तो तुरंत हो जाती है बात पक्की!
– अगर आपके पास भी आया है ऐसा एसएमएस तो सचेत रहें, ठग कर सकते हैं खाता खाली
– शादी रचाकर सुर्खियों में आया लादेन का बेटा, दुल्हन का बाप भी कुख्यात आतंकी

Facebook Comments

LEAVE A REPLY