पटना/वार्ताबिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य के सर्वांगीण विकास का संकल्प दुहराते हुए शनिवार को कहा कि विकास का मतलब न्याय के साथ हर इलाके और हर समुदाय का विकास है। कुमार ने यहां आयोजित ’’बिहार संवादी’’ कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि संवाद और बहस के बीच में फर्क इस कार्यक्रम की पृष्ठभूमि है। आज देश-दुनिया में तनाव और टकराव का माहौल बना हुआ है। इस माहौल से निकल कर सकारात्मक मानसिकता के साथ काम करने की जरूरत है। किसी भी संवाद का आयोजन इस तरह किया जाना चाहिए जो सकारात्मक दिखे और उसका निष्कर्ष भी सकारात्मक हो। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार की तरफ से साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव का आयोजन किया जाता रहा है। बिहार की अद्भुत भूमि ज्ञान की भूमि रही है। यह भगवान बुद्ध की ज्ञान भूमि और भगवान महावीर की जन्मभूमि, ज्ञानभूमि एवं निर्वाण भूमि है। इस भूमि पर ही सम्राट अशोक का चंड अशोक से धम्म अशोक में परिवर्तन हुआ्। यहीं अर्थशास्त्र के रचयिता चाणक्य थे, जिन्होंने देश के सम्राट के रुप में चंद्रगुप्त का चयन किया। शून्य का आविष्कार करने वाले आर्यभट्ट भी यहीं हुए्। हर क्षेत्र में चाहे, वह साहित्य का हो, दर्शन का हो, विज्ञान या कला का हो बिहार की अपनी भूमिका रही है। कुमार ने कहा, समाज में प्रेम-सद्भाव और सौहार्द का माहौल बनाए रखने की जरुरत है। मुझे उम्मीद है कि इस संवाद से सकारात्मक संदेश जाएगा। कार्यक्रम में की गयी चर्चा का व्यापक असर होगा। शराबबंदी, बाल विवाह, दहेज प्रथा जैसे समाज सुधार के मुद्दों पर भी चर्चा किये जाने की जरूरत है। यह कार्यक्रम साहित्य उत्सव की तरह है और इसमें खुशी तब मिलेगी जब समाज में तनाव एवं टकराव खत्म होगा। मुख्यमंत्री ने हिन्दीं की चर्चा करते हुए कहा कि हिंदी का विकास सिर्फ संस्कृत की तरफ ही नहीं बल्कि ऊर्दू के तरफ भी हो। सबको मिलाकर हिंदी भाषा और समृद्ध होगी। हिंदी अखबारों में सामाजिक मुद्दों के लिए भी पृष्ठ सुरक्षित करना चाहिए। नई पी़ढी समाचार पत्रों के माध्यम से सहज ढंग से ज्ञान अर्जित कर सकती है।कुमार ने कहा, विकास का मतलब सिर्फ इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण नहीं होता बल्कि सामाजिक उत्थान भी होता है। विकास का मतलब न्याय के साथ हर इलाके और हर समुदाय का विकास है। हम कुरीतियों को दूर करेंगे तो विकास प्रभावी होगा। मुझे ऐसा विश्वास है कि इस कार्यक्रम का सकारात्मक परिणाम जरुर मिलेगा। इस मौके पर उत्तर प्रदेश के विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित, विधान पार्षद रामवचन राय, मुख्यमंत्री के सचिव मनीष वर्मा समेत अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY