पटना/वार्ताबिहार की मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार के गठन को लोकतंत्र की हत्या और संविधान का उल्लंघन करार देते हुए शुक्रवार को पूरे प्रदेश में धरना-प्रदर्शन करने की घोषणा की है। राजद के उपाध्यक्ष और पूर्व केन्द्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि उनकी पार्टी कर्नाटक में भाजपा सरकार के गठन के खिलाफ राजधानी के गर्दनीबाग में धरना देगी। उन्होंने कहा कि धरने में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के अलावा पार्टी के सभी प्रमुख नेता मौजूद रहेंगे। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम में महागठबंधन के घटक दलों को भी आमंत्रित किया गया है। इसके अलावे पूरे प्रदेश में धरना और विरोध प्रदर्शन का कार्यक्रम आयोजित किया गया है। सिंह ने कहा कि कर्नाटक चुनाव में कांग्रेस को जनता दल (एस) के साथ चुनाव पूर्व गठबंधन करना चाहिए था और यदि ऐसा होता तो विधानसभा चुनाव में भाजपा का पूरी तरह सफाया हो जाता। उन्होंने कहा कि कर्नाटक चुनाव में मत प्रतिशत हासिल करने के मामले में कांग्रेस ने भाजपा से दो प्रतिशत अधिक मत हासिल किया लेकिन इसके बावजूद वह भाजपा के मुकाबले कम सीटें जीत सकी। उन्होंने भाजपा विरोधी दलों को कर्नाटक चुनाव परिणाम से सीख लेने की नसीहत दी। सिंह ने कनार्टक में भाजपा सरकार के गठन में राज्यपाल की भूमिका पर प्रश्नचिह्न ख़डा करते हुए कहा कि पूरे प्रकरण में एस.आर. बोम्मई मामले में सर्वोच्च न्यायालय के दिये निर्णय को भी नजरअंदाज किया गया। उन्होंने कहा कि चुनाव पूर्व गठबंधन नहीं होने के हालत में सबसे ब़डे दल को आमंत्रित करने की बजाए चुनाव बाद हुए गठबंधन को तरजीह दी जानी चाहिए थी। उन्होंने कहा कि राज्यपाल ने मुख्यमंत्री बी एस येड्डीयुरप्पा को बहुमत साबित करने के लिए पंद्रह दिन का समय देकर विधायकों की खरीद-फरोख्त के दरवाजे खोल दिए हैं।

LEAVE A REPLY