बेंगलूरु/ दक्षिण भारतभारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने दावा किया है कि केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली राजग सरकार ने देश में विकास का नया मानक स्थापित किया है। उन्होंने गुरुवार को यहां कारोबारी समुदाय के सदस्यों के साथ हुई बातचीत में भरोसा दिलाया कि अगर आगामी १२ मई को होने वाले कर्नाटक विधानसभा चुनाव में भाजपा को राज्य की सत्ता में वापसी करने का मौका मिलता है तो इसे ’’भ्रष्टाचार मुक्त’’ आदर्श राज्य के रूप में विकसित किया जाएगा। शाह ने कहा, ’’वर्ष २०१४ में देश के हालात काफी गंभीर थे। हमारी सरकार ने सत्ता में आते ही प्रशासनिक काम-काज का तौर-तरीका बदल दिया। हमारी सरकार ने यह सुनिश्चित करने के लिए काम किया कि कोई घर देश में ऐसा न हो जिसमें शौचालय न हो, कोई व्यक्ति ऐसा न हो जिसका बैंक खाता न हो और कोई गांव ऐसा न हो जहां बिजली आपूर्ति नहीं होती हो। वर्ष २०१४ के पूर्व व्यापक भ्रष्टाचार के कई मामले सामने आ रहे थे। देश को घोटालों की वजह से १२ लाख करो़ड रुपए का नुकसान सहना प़डा।’’शहर के कारोबारियों और उद्योगपतियों को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि केंद्र में भाजपा सरकार के अथक काम का नतीजा है कि पिछले चार वर्षों के दौरान २९ लाख लोगों के बैंक खाते खुल चुके हैं्। वहीं, देश भर में सा़ढे सात लाख शौचालयों का निर्माण हो सका और गरीबी रेखा से नीचे जीवन बिताने वाले ९ लाख परिवारों की महिलाओं को उज्ज्वला योजना के तहत गैस सिलिंडर मिल सके। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा वर्ष २०१४ के लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान देश के बेरोजगार नौजवानों को लाखों नौकरियां देने का वादा पूरा न कर पाने के आरोप में अक्सर आलोचनाओं का सामना करने वाली सरकार के बचाव में शाह ने कहा, ’’हमारे नेता और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वरोजगार का नया तरीका तलाशा है। हमारी सरकार ने बिना किसी गारंटी या गारंटर के युवा वर्ग को अपना कारोबार शुरू करने के लिए १० हजार से १० लाख रुपए तक की ऋण राशि उपलब्ध करवाई। लोगों को इस योजना का काफी फायदा मिला है।’’कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्दरामैया की अगुवाई वाली कांग्रेस सरकार पर राज्य में बुनियादी ढांचा विकास के कामों की अनदेखी करने का आरोप लगाते हुए शाह ने कहा कि एक तरफ राज्य का विकास थमा हुआ है तो दूसरी ओर मुख्यमंत्री हमेशा कीमती घि़डयां पहनते हैं्। उन्होंने कारोबारियों से पूछा, ’’यहां जो लोग बैठे हैं, वह काफी समृद्ध वर्ग से आते हैं लेकिन क्या किसी के पास ऐसी कीमती घ़डी है? मुख्यमंत्री के पास है। हमने यह सवाल उठाया कि मुख्यमंत्री को घ़डी किसने दी लेकिन हमें आज तक इसका कोई उत्तर नहीं मिला है।’’ कारोबारियों और उद्योगपतियों से शाह की बातचीत का यह कार्यक्रम भाजपा की विभिन्न इकाइयों द्वारा आयोजित किया गया। यह उनके दो दिवसीय कर्नाटक दौरे के कार्यक्रमों का हिस्सा था।

LEAVE A REPLY