bharat bandh symbolic pic
bharat bandh symbolic pic

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। रोजाना कार्यालय जानेवाले और अन्य कामों के लिए विभिन्न स्थानों की यात्रा करने वाले दैनिक यात्रियों के लिए सोमवार का दिन खासा मुश्किलों भरा दिन साबित होने वाला है। पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी के विरोध में कांग्रेस के आह्वान पर भारत बंद का पूरे राज्य में अच्छा असर देखने को मिल सकता है।

कांग्रेस ने केंद्र की भाजपा-नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार पर दोनों ईंधनों के साथ ही रसोई गैस की कीमतों में आई तेज उछाल पर लगाम कसने में असफल रहने का आरोप लगाते हुए इस बंद का आह्वान किया है। प्रदेश में जनता दल (एस) के साथ गठबंधन के तहत सत्ता में काबिज कांग्रेस ने पहले ही इस बंद को अपना पूर्ण समर्थन देने की घोषणा कर दी है।

गठबंधन के दूसरे धड़े जनता दल (एस) भी इस बंद के पक्ष में आ खड़ा हुआ है। वहीं, कांग्रेस के श्रमिक संघ एआईटीयूसी और वामपंथी श्रमिक संघ सीआईटीयू ने भी इस बंद को अपना समर्थन देने की घोषणा की है। इनके साथ ही कर्नाटक राज्य सड़क परिवहन निगम (केएसआरटीसी), ओला एवं उबेर कैब चालकों ने भी बंद को समर्थन देते हुए अपने कैब एक दिन के लिए सड़कों से बाहर रखने का निर्णय लिया है।

यहां तक कि केंद्र और महाराष्ट्र में भाजपा को समर्थन देने वाली शिवसेना ने भी बंद के आह्वान का समर्थन किया है। इस बंद के दौरान आम जनता को अधिकांश सेवाएं उपलब्ध नहीं होंगी लेकिन दूध की आपूर्ति जारी रहेगी और दवाओं की दुकान, अस्पताल खुले रहेंगे। समाचार पत्र बांटने वाले कर्मचारियों को भी बंद के दायरे से बाहर रखा गया है।

पुलिस आयुक्त टी. सुनील कुमार ने बंद की पूर्वसंध्या पर रविवार को यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि बंद के दौरान कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए 15 हजार अतिरिक्त पुलिसकर्मियों को पूरे शहर में तैनात किया जाएगा। इनमें कर्नाटक राज्य रिजर्व पुलिस (केएसआरपी) की 30 और शहर सशस्त्र पुलिस की 30 टुकड़ियां शामिल होंगी।

वहीं, पूरे शहर में बंद की अवधि के दौरान 270 होयसला गश्ती वाहन लगातार सतर्कता बनाए रखेंगे ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि बंद के दौरान किसी प्रकार की अप्रिय घटना को रोका जा सके। वहीं, कर्नाटक के पुलिस महानिदेशक नीलमणि राजू ने कहा कि पूरे राज्य में बंद के दौरान पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था की जाएगी ताकि सामान्य जीवन पर बंद का बुरा असर न पड़े। बंद को देखते हुए शहर के अधिकांश स्कूलों और कॉलेजों ने विद्यार्थियों की सुरक्षा के मद्देनजर सोमवार को छुट्टी की घोषणा कर दी है।

ये भी पढ़िए:
– भाजपा ने ​पेश किया ‘विजन 2022’, कहा- विपक्ष के पास न नेता, न नीति और न ही रणनीति
– ‘कश्मीर में घट गई आतंकियों की उम्र, सुरक्षाबलों ने दो साल में मारे 360 से ज्यादा आतंकी’
– भोजपुरी एक्ट्रेस अंजना सिंह की ये 3 फिल्में मचा रही हैं धमाल, सिनेमाघरों में छाया जलवा
– ‘स्त्री’ में भूत का किरदार निभाने वाली एक्ट्रेस असल ज़िंदगी में दिखती हैं ऐसी
– सिद्धू पर बोले तारेक फतह- ‘जेल में बंद मरियम नवाज़ से मिलते तो होते असली पंजाबी’

LEAVE A REPLY