mayawati
mayawati

रायपुर। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती ने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि वह उनकी पार्टी को कमजोर करना चाहती है, इसलिए गठबंधन नहीं किया गया। उन्होंने छत्तीसगढ़ में चुनाव प्रचार की शुरुआत करते हुए कांग्रेस पर जोरदार हमला बोला। उन्होंने कहा कि बसपा का हिंदी भाषी राज्यों में जनाधार बढ़ रहा है, इससे कांग्रेस परेशान हो रही थी।

मायावती ने कहा कि कांग्रेस बसपा को कमजोर बना चाहती थी, इसलिए बहुत कम सीटों की पेशकश कर रही थी। उन्होंने कहा कि वे सम्मानजनक संख्या में सीटें मांग रही थीं लेकिन कांग्रेस तैयार नहीं थी। लिहाजा उन्होंने कांग्रेस से गठबंधन नहीं किया। उन्होंने छत्तीसगढ़ में गरीबों, दलितों और पिछड़ों के मुद्दे उठाए।

मायावती के साथ अजीत जोगी भी मौजूद थे। छत्तीसगढ़ में बसपा और जोगी की पार्टी जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) का गठबंधन हुआ है। पहले कांग्रेस के साथ बसपा के गठबंधन के कयास लगाए जा रहे थे लेकिन मायावती ने अजीत जोगी की पार्टी से गठबंधन कर सबको चौंका दिया। इसके बाद उन्होंने कांग्रेस पर हमला करते हुए उसे ही गठबंधन न करने के लिए जिम्मेदार ठहरा दिया।

छत्तीसगढ़ में विधानसभा के लिए 90 सीटों पर चुनाव होगा। इनमें से 35 सीटों पर बसपा अपने उम्मीदवार उतारेगी। वहीं 55 सीटों पर अजीत जोगी की पार्टी चुनाव लड़ेगी। विश्लेषकों का आकलन है कि बसपा और जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के गठबंधन से कांग्रेस के वोटों का बंटवारा हो सकता है। मायावती के इस फैसले से विपक्ष के महागठबंधन की संभावनाओं पर भी कई सवाल खड़े हो गए हैं। इस तरह छत्तीसगढ़ में त्रिकोणीय मुकाबला होने के आसार बनते जा रहे हैं जो काफी कड़ा होगा।

ये भी पढ़िए:
– प्रधानमंत्री मोदी को जान से मारने की धमकी, दिल्ली पुलिस कमिश्नर को मिला ईमेल
– फिर मंडराया हैकिंग का खतरा, अब फेसबुक के 2.90 करोड़ यूजर्स का डेटा चोरी
– थरूर की अंग्रेजी पर भारी मोदी की संस्कृत! सोशल मीडिया पर छिड़ी जोरदार बहस
– सर्वे: 67 प्रतिशत लोगों ने माना, मोदी के राज में सही दिशा में जा रहा है भारत

LEAVE A REPLY