नवाज़ शरीफ की पत्नी कुलसूम नवाज़ का लंदन में देहांत, आखिरी लम्हों में नहीं कर पाए मुलाकात

0
245

लंदन। भ्रष्टाचार के आरोपों में जेल में बंद पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ की पत्नी कुलसूम नवाज़ का मंगलवार को लंदन में देहांत हो गया। वे 68 साल की थीं। कुलसूम की सेहत ठीक नहीं थी। काफी समय से लंदन में उनका इलाज जारी था। पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, सोमवार को उनकी तबीयत ज्यादा बिगड़ गई। कुलसूम नवाज़ का लंदन के हार्ले स्ट्रीट क्लिनिक में 2014 से इलाज चल रहा था।

अगस्त 2017 में डॉक्टरों ने उनके गले में कैंसर की पुष्टि की थी। अपने आखिरी लम्हों में वे पति नवाज़ शरीफ को नहीं देख पाईं। उनकी मौत की खबर मिलने के बाद पाकिस्तान के कई लोगों ने सोशल मीडिया पर उन्हें श्रद्धांजलि दी है।

लाहौर में रहने वाले एक कश्मीरी परिवार में जन्मीं कुलसूम ने अपनी ज़िंदगी में कई उतार-चढ़ाव देखे थे। खासतौर से कारगिल युद्ध के बाद जब फौजी तानाशाह परवेज़ मुशर्रफ ने नवाज़ का तख्ता पलटा तो उन्हें परिवार सहित कई चुनौतियों का सामना करना पड़ा था। उन्होंने पाकिस्तान के पंजाब विश्वविद्यालय से उर्दू में मास्टर डिग्री ली थी। वर्ष 1971 में उनका नवाज़ शरीफ के साथ निकाह हुआ था।

उनके चार बच्चे हैं, जिनमें मरियम नवाज़ अपने पिता की राजनीतिक वारिस मानी जाती हैं। इन दिनों वे भी भ्रष्टाचार के आरोपों में जेल में बंद हैं। आमतौर पर कुलसूम नवाज़ मीडिया से दूर रहती थीं। पिछले कुछ वर्षों से उनकी सेहत खराब रहने लगी थी। जब नवाज़ शरीफ भ्रष्टाचार के आरोप में जेल गए तो यह चर्चा जोरों पर थी कि कुलसूम उनकी जगह लेंगी। हालांकि बाद में मरियम और शहबाज़ ही आगे आए। न्यायिक प्रक्रिया का सामना करने के लिए इंग्लैंड से पाकिस्तान आए नवाज़ शरीफ ने कहा था कि वे कुलसूम को अल्लाह के भरोसे छोड़कर आए हैं।

ये भी पढ़िए:
– 9/11: इस शख्स ने की थी अमेरिकी खुफिया एजेंसी की मदद और मारा गया ओसामा
– इंटरनेट पर छाया भोजपुरी एक्ट्रेस संभावना का नया लुक, जिम में खूब बहाया था पसीना
– अंधविश्वास की हद, मंदिर में काटी खुद की गर्दन और चढ़ा दी देवी को बलि
– मुसलमानों पर चीन की ज्यादती, देशभक्ति सिखाने के नाम पर सैकड़ों लोगों को लिया हिरासत में

LEAVE A REPLY