चेन्नई। मुख्यमंत्री ईके पलानीस्वामी ने बुधवार को श्रीरंगम स्थित श्री रंगनाथस्वामी मंदिर के बोर्ड ऑफ ट्रस्टी के अध्यक्ष और राज्य के जाने माने उद्योगपति वेणु श्रीनिवासन तथा अन्य ट्रस्ट के अन्य सदस्यों को इस मंदिर को यूनेस्को द्वारा वर्ष २०१७ के ऐतिहासिक विरासतों के संरक्षण के लिए दिया जाने वाला मेधा प्रमाणपत्र प्रदान किए जाने पर बधाई दी। बुधवार को वेणु श्रीनिवासन की अगुवाई में मंदिर ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री से मुलाकात की और उन्हें यूनेस्को की ओर से मंदिर को प्रदान किए गए मेधा प्रमाणपत्र दिखाया।श्रीरंगम स्थित श्री रंगनाथस्वामी मंदिर देश के १०८ दिव्य देशम स्थानों में से एक है और इसे यूनेस्को द्वारा एसिया पैसिफिक अवार्ड से नवाजा गया है। मुख्यमंत्री से मुलाकात के दौरान मंदिर के अन्य ट्रस्टी डॉ केएन श्रीनिवासन, कविता जगदीशन, एसटी रंगचारी, रोटेशन ट्रस्टी एस वेंकटेश उथमाम्बी, पुरोहित सुंदर भट्टार भी उपस्थित थे। ज्ञातव्य है कि श्री रंगनाथस्वामी मंदिर यह पुरस्कार प्राप्त करने वाला राज्य का पहला मंदिर है। मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से प्राप्त जानकारी के अनुसार मंदिर के सभी ट्रस्टियों ने मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद उन्हें बधाई दी। उल्लेखनीय है कि राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता ने इस मंदिर के नवीनीकरण कार्य के लिए २५ करो़ड रुपए का आवंटन किया गया था। वर्ष २०१५ में इस मंदिर के सैंक़डों वर्ष पुराने ऐतिहासिक विरासत से बिना किसी प्रकार की छे़डछा़ड किए इसके नवीनीकरण का कार्य पूरा किया गया था। मंदिर के नवीनीकरण का कार्य मंदिर में होने वाले महाभिषेक से पहले पूरा कर लिया गया था। नवीनीकरण के बाद ही इस मंदिर को अंतराष्ट्रीय पहचान मिली और देश के साथ ही विदेशों से भी काफी संख्या मंें श्रद्घालु यहां पहुंचने लगे। कई चरणों में किए गए नवीनीकरण कार्य के तहत इस मंदिर के सैक़डों स्तभंों और मंडपों को पुराने स्वरुप में वापस लौटाया गया था। इसके साथ ही इस मंदिर परिसर में बने छोटे-छोटे मंदिरों में प्रतिष्ठापित छोटी छोटी सैंक़डों मूर्तियों को भी पुराने रुप में लाया गया था इसके लिए अति आधुनिक तकनीक का उपयोग किया गया था। गौरतलब है कि श्रीरंगनाथस्वामी मंदिर से पूर्व यूनेस्को द्वारा यह प्रतिष्ठित पुरस्कार मुंबई के क्रिस्ट चर्च और रॉयल बॉम्बे ओपेरा हाउस को भी प्रदान किया गया है।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY