तिरुचि/दक्षिण भारतअम्मा मक्कल मुनेत्र कषगम (एएमएमके) के कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को अपने नेता टीटीवी दिनाकरन के नेतृत्व ने यहां तिरुचिरापल्ली हवाईअड्डे पर केन्द्र सरकार द्वारा कावेरी प्रबंधन बोर्ड (सीएमबी) का गठन नहीं किए जाने के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने कावेरी प्रबंधन बोर्ड (सीएमबी) को जल्द गठित करने के लिए विपक्ष की राज्यव्यापी ह़डताल का समर्थन किया। इसके साथ ही दिनाकरण गुट ने आगामी ५ अप्रैल को द्रमुक और अन्य विपक्षी पार्टियों द्वारा आहूत राज्य बंद का समर्थन करने की भी बात कही है। पुलिस ने बताया कि मंगलवार की सुबह कुछ किसानों के साथ एएमएमके कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन करते हुए इसे हवाईअड्डे का घेराव किया। पुलिस ने कार्यकर्ताओं को अपना विरोध प्रदर्शन समाप्त करने के लिए और हवाईअड्डे का घेराव समाप्त करने के लिए कहा लेकिन जब वह इसके लिए तैयार नहीं हुए तो उन्हें हिरासत में ले ले लिया गया। इन सभी कार्यकर्ताओं को शाम के बाद जमानत पर छो़ड दिया गया। तिरुचि में दिनाकरन के अलावा किसान नेता पी अय्याकन्नु और तमिलनाडु अखिल किसान संघ के अध्यक्ष पी आर पंडियन के नेतृत्व में किसान संघों के सदस्यों ने भी विरोध प्रदर्शन किया। तिरुचि में भी व्यापारी संघों द्वारा बुलाए गए बंद के जवाब में राज्य के कई स्थानों पर खुदरा और किराने की दुकानें भी बंद रही। पुलिस ने बताया कि जिले में सुरक्षा की क़़डी व्यवस्था की गई है। इसी क़डी में जिले में द्रमुक एवं विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया और राज्यभर में स़डक और रेलमार्ग अवरुद्ध किया। उन्होंने तटवर्ती राज्यों में कावेरी जल आवंटन पर सुप्रीम कोर्ट के १६ फरवरी के आदेश को लागू करने के लिए सीएमबी के तुरंत गठन की मांग की। द्रमुक और कुछ तमिल समर्थक संगठनों ने ह़डताल का नेतृत्व किया। द्रमुक के कार्यकर्ताओं ने केन्द्र सरकार और राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

LEAVE A REPLY