चेन्नई। शहर के महालक्ष्मी ज्वेलर्स से करो़डों रुपए के सोने के आभूषणों की लूट के मामले के मुख्य आरोपी नाथूराम जाट को पक़डने के लिए चेन्नई पुलिस की एक टीम सोमवार को राजस्थान के लिए रवाना हुई। नाथूराम जाट को राजस्थान पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और वह फिलहाल राजस्थान पुलिस की हिरासत में हैं। राजस्थान पुलिस ने नाथूराम जाट को दो दिन पहले गुजरात से गिरफ्तार किया है। नाथूराम गुजरात में अपने किसी दोस्त के साथ छुपा हुआ था। गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया।ज्ञातव्य है कि नाथूराम की गिरफ्तारी के बाद शहर के मदुरावोयल पुलिस स्टेशन के दिवंगत पुलिस इंस्पेक्टर पांडियन की मौत की गुत्थी सुलझने की भी उम्मीद है। पांडियन नाथूराम जाट को पक़डने के लिए राजस्थान जिले के पाली गए थे और एक ईंट भट्टे पर दबिश दी थी हालांकि इस दौरान नाथूराम के सहयोगियों और पुलिस के बीच हाथापाई हो गई और इस दौरान चली गोली में पांडियन की मौत हो गई। चेन्नई पुलिस ने पांडियन की मौत के बाद यह पहली बार कहा था कि नाथूराम जाट ही उनकी हत्या कर वहां से फरार हो गया। हालांकि बाद में जयपुर पुलिस ने अपनी जांच मंे कहा था कि पांडियन की मौत उनके साथ गई पुलिस टीम के ही एक साथ की पिस्तौल की गोली लगने के कारण हुई थी।ज्ञातव्य है कि अभी तक पुलिस महालक्ष्मी ज्वेलर्स से चुराए गए स्वर्णाभूषण बरामद नहीं कर सकी है। पुलिस द्वारा नाथूराम जाट की पत्नी और उसके दो सहयोगियों को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है लेकिन इन दोनों को चोरी के माल की कोई जानकारी नहीं है। नाथूराम की गिरफ्तारी के बाद चेन्नई पुलिस का यह दावा है कि वह चोरी हुए स्वर्णाभूषणों को बरामद करने में सफल होगी। शहर के ७ पुलिस अधिकारियों की एक टीम नाथूराम को ट्रांजिट रिमांड पर चेन्नई लेकर आएगी। इसके लिए तमिलनाडु पुलिस के अधिकारियों ने राजस्थान के अपने समकक्ष अधिकारियों के साथ आवश्यक औपचारिकताएं पूरी कर ली हैं।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY