president and cji
president and cji

नई दिल्ली। जस्टिस रंजन गोगोई ने उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश का कार्यभार संभाल लिया है। उन्हें बुधवार को राष्ट्रप​ति रामनाथ कोविंद ने पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। जस्टिस गोगोई भारत के 46वें मुख्य न्यायाधीश हैं। बता दें कि सीजेआई गोगोई 2001 में गुवाहाटी उच्च न्यायालय में न्यायाधीश बने थे। वे 2012 में उच्चतम न्यायालय में आए। उनके जीवन, कार्य के प्रति निष्ठा और सादगी के किस्से सोशल मीडिया पर खूब पढ़े जा रहे हैं।

एक रिपोर्ट के अनुसार, सीजेआई गोगोई बेहद सादगी पसंद हैं। उच्चतम न्यायालय के कई प्रसिद्ध वकीलों की तुलना में उनकी आय और संसाधन काफी कम बताए गए हैं। इस रिपोर्ट में बताया गया है कि सीजेआई गोगोई के पास सोने का एक भी आभूषण नहीं है। उनकी पत्नी के पास भी सिर्फ वही आभूषण हैं जो शादी के समय परिजनों की ओर से उपहार में मिले थे।

सीजेआई गोगोई सरकारी वाहन से सफर करते हैं और उन्होंने कोई निजी वाहन नहीं खरीदा है। रिपोर्ट कहती है कि जहां कई दिग्गज वकील शेयर बाजार आदि में धन निवेश करते हैं, वहीं सीजेआई गोगोई इन सबसे दूर रहते हैं। उन पर किसी तरह का कोई बकाया नहीं है, क्योंकि वे जिस सेवा का उपयोग करते हैं, उसका पूरा मूल्य चुकाते हैं।

उन पर कोई लोन, बिल और देनदारी बकाया नहीं है। उन्होंने 1999 में गुवाहाटी में एक भूखंड खरीदा था, उसे भी बाद में बेच दिया। उन्होंने अपनी संपत्ति के हलफनामे में इस बात की पूरी जानकारी दी है। सीजेआई गोगोई स्कूली जीवन में बेहद कुशाग्र विद्यार्थी रहे हैं। उनके पिता केशब चंद्र गोगोई असम के मुख्यमंत्री थे।

ये भी पढ़िए:
– 20 लोगों ने इस्लाम छोड़कर हिंदू धर्म अपनाने का किया फैसला, बोले- हमारे समाज ने ​नहीं दिया साथ
– जब शास्त्रीजी के आह्वान पर उपवास करने लगा था पूरा हिंदुस्तान, पढ़िए 3 प्रेरक घटनाएं
– नकल में भी अक्ल लगाना भूला पाकिस्तान, आतंकियों पर टिकट मामले में खुली फर्जीवाड़े की पोल
– विवेक ​हत्याकांड की चश्मदीद सना बोली- गोली मारने के बाद मामले को दबाने में जुटी थी पुलिस

LEAVE A REPLY