indian army in kashmir
indian army in kashmir

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में कुपवाड़ा जिले के हंदवाड़ा में सुरक्षाबलों ने जोरदार कार्रवाई करते हुए एक आतंकी को ढेर कर दिया। हंदवाड़ा बाईपास पर बने एक नाके पर आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर गोलियां चलाई थीं, जिसके बाद जवाबी कार्रवाई में एक आतंकी मारा गया। उससे काफी तादाद में हथियार और विस्फोटक बरामद किए गए हैं। गोलीबारी के बाद सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू किया।

आतंकियों को पाल रहा पाक 
राज्य में लगातार आतंकी मारे जा रहे हैं। इस बीच भारतीय सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पार करीब 160 आतंकवादी भारत में घुसपैठ करने की फिराक में हैं। सर्दियों की शुरुआत के साथ ही पाकिस्तान अपने प्रशिक्षित आतंकियों की भारत में घुसपैठ कराने की खास कोशिशों में जुट जाता है। नगरोटा स्थित व्हाइट नाइट कोर के जनरल कमांडिंग ऑफिसर लेफ्टिनेंट जनरल परमजीत सिंह ने बताया कि पाकिस्तान के अलग-अलग ठिकानों से 140 से 160 आतंकवादी राज्य में भेजे जाने वाले हैं।

लेफ्टिनेंट जनरल परमजीत सिंह ने कहा कि सरहद पार से आतंकवाद पाकिस्तान की नीति और मंसूबा बदलने से ही रुकेगा। लेफ्टिनेंट जनरल सिंह 2016 में ऐतिहासिक सर्जिकल स्ट्राइक की योजना बनाने वाले अधिकारियों में से एक हैं। उन्होंने कहा कि भारतीय सेना की तैयारियां जारी रहेंगी और हमारा घुसपैठ रोधी तंत्र बहुत सशक्त है। उन्होंने भारत में घुसपैठ और आतंकवाद की साजिशें रचने के लिए पाकिस्तान की फौज और आईएसआई के गठजोड़ को जिम्मेदार बताया।

​एलओसी पर पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी पर लेफ्टिनेंट जनरल सिंह ने बताया कि हम गोलीबारी की शुरुआत नहीं करते लेकिन माकूल जवाब देते हैं। उन्होंने डीजीएमओ स्तर की वार्ताओं का उल्लेख किया। साथ ही यह भी बताया कि पाकिस्तानी फौज सर्दियों के मौसम का फायदा उठाकर घुसपैठ को बढ़ावा देती है। लेफ्टिनेंट जनरल सिंह ने बताया कि इस मौसम में पाकिस्तान की ओर से बर्फ से ढके इलाकों और गैर-पारंपरिक रास्तों से घुसपैठ की कोशिश की जाती है। उन्होंने कहा कि हर स्थिति से निपटने के लिए सेना की योजनाएं तैयार हैं।

LEAVE A REPLY