arrest symbolic pic
arrest symbolic pic

गांधीनगर /वार्ता। गुजरात के उत्तरी जिलों में परप्रांतीय यानी गैर-गुजराती विशेष रूप से बिहार और उत्तर प्रदेश के लोगों पर हो रहे हमले के मद्देनजर बड़े पैमाने पर ऐसे लोगों का पलायन जारी है जबकि पुलिस ने इस संबंध में अब तक 42 मामले दर्ज कर 342 लोगों को गिरफ्तार किया है। कुछ दिन पहले उत्तर गुजरात के साबरकांठा जिले के ढुंढर गांव में ठाकोर समुदाय की 14 माह की एक बालिका के साथ बिहार के मूल निवासी एक फैक्ट्री श्रमिक के कथित तौर पर दुष्कर्म के बाद से ये हमले शुरू हुए हैं।

सत्तारूढ़ भाजपा ने इसके लिए कांग्रेस तथा इसके विधायक और ठाकोर सेना के अध्यक्ष अल्पेश ठाकोर पर आरोप लगाया है, जबकि ठाकोर ने इन आरोपों को गलत बताया है और भाजपा पर उन्हें और उनके समर्थकों को फंसाने का प्रयास करने का आरोप लगाया है। उन्होंने महिसागर जिले में भाजपा नेता के एक उकसाऊ फेसबुक पोस्ट का भी उल्लेख किया।

उपमुख्यमंत्री नीतिन पटेल ने ठाकोर का नाम लिए बिना कहा कि हर कोई जानता है कि यह हमले कौन करा रहा है। वह किसी का नाम नहीं लेना चाहते। पहले जातिवाद का सहारा ले चुकी कांग्रेस अब प्रदेशवाद का जहर फैलाने का प्रयास कर रही है। मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने इन हमलों को दु:खद बताया।

राज्य के डीजीपी शिवानंद झा ने कहा कि अब तक 42 मामले दर्ज कर 342 लोगों की गिरफ्तारी की गई है। ये सभी मामले उत्तर गुजरात के हैं। सोशल मीडिया के दुरुपयोग और अफवाह फैलाने और उकसाने वाले पोस्ट करने के मामले दो प्रकरण दर्ज कर छह लोग पकड़े गए हैं। ऐसे एक और मामले की जांच की जा रही है। महेसाणा जिले में 15 मामलों में 89, साबरकांठा में 11 मामलों में 95, अहमदाबाद शहर में सात मामलों में 73, गांधीनगर में तीन मामलों में 27, अरावल्ली में दो मामलों में 20, अहमदाबाद ग्रामीण क्षेत्र में तीन मामलों में 36 और सुरेन्द्रनगर में एक मामले में दो लोगों की गिरफ्तारी की गई है।

अधिकतर हमले की घटनाएं शाम को ऐसे समय में हुई हैं जब विभिन्न फैक्ट्रियों में शिफ्ट बदलने पर श्रमिक बाहर निकल रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रभावित क्षेत्रों में एसआरपी की 17 कंपनियों समेत अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की गई है और सुरक्षा के पर्याप्त प्रबंध किए गए हैं। इस बीच, सोशल मीडिया पर गैर गुजराती लोगों को धमकाने और घर खाली करने की चेतावनी वाले वीडियो भी सामने आये हैं।

ये भी पढ़िए:
– बैंक मैनेजर का कारनामा: अमीरों के खातों से रकम निकाल गरीबों को भेजी, बांट दिए करोड़ों
– राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मप्र में क्या है सीटों का गणित और कौन बिगाड़ सकता है चुनावी बिसात?
– इन 5 राज्यों में बज गया चुनावी बिगुल, जानिए कहां कब होगा मतदान
– बंदर को बस चलाना सिखा रहा था ड्राइवर, वायरल हुआ यह वीडियो
– क्या राजस्थान में तीसरे मोर्चे के नाम पर सियासी जुगलबंदी कांग्रेस को पहुंचाएगी नुकसान?

LEAVE A REPLY