नानजिंग/वार्ताभारत की शीर्ष महिला खिलाि़डयों पीवी सिंधू और साइना नेहवाल को सोमवार से यहां शुरू हो रही विश्व बैडमिंटन चैपियनशिप में बाई मिली है जिससे वे महिला एकल के दूसरे दौर में पहुंच गई हैं। भारत ने विश्व चैंपियनशिप में अब तक दो रजत और पांच कांस्य पदक जीते हैं और उसे अपने पहले स्वर्ण की तलाश है। भारत को ये दो रजत पदक साइना और सिंधू ने दिलाए हैं। साइना को २०१५ के फाइनल में स्पेन की कैरोलिना मारिन से हार का सामना करना प़डा था जबकि सिंधू को २०१७ के फाइनल में जापान की नोजोमी ओकुहारा से पराजय झेलनी प़डी थी।साइना को २०१७ की चैंपियनशिप में कांस्य पदक भी मिला था। सिंधू २०१३ और २०१४ में कांस्य पदक जीत चुकी हैं। इस तरह विश्व चैंपियनशिप में भारत के कुल सात पदकों में से पांच पदक तो इन दो महिला खिलाि़डयों ने दिलाए हैं।टूर्नामेंट में सिंधू को तीसरी और साइना को १० वीं वरीयता मिली है। पुरुषों में बी साई प्रणीत को पहले दौर में वाकओवर मिल गया है और वह दूसरे दौर में पहुंच गए हैं। पुरुष वर्ग में भारत की सबसे ब़डी उम्मीद किदाम्बी श्रीकांत को पांचवीं और एच एस प्रणय को ११ वीं वरीयता मिली है। पुरुष वर्ग में समीर वर्मा भी अपनी चुनौती रखेंगे।पुरुष युगल, महिला युगल और मिश्रित युगल में भारत की चार-चार जोि़डयां अपनी चुनौती पेश करेंगी। मिश्रित युगल में सभी नजरें कुहू गर्ग और रोहन कपूर पर रहेंगी जिन्होंने रविवार को रूस ओपन टूर्नामेंट में रजत पदक जीता। दोनों पहली बार विश्व चैंपियनशिप में उतरेंगे।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY