beautiful hands
beautiful hands

बेंगलूरु। कहीं न कहीं यह माना जाता है कि पुरुषों के हाथ महिलाओं की तुलना में कठोर होते हैं। वहीं महिलाओं के हाथ कोमल होते हैं, जबकि महिलाएं, पुरुषों की तुलना में घर के कामों में अधिक सक्रिय रहती हैं। मगर यह साफ करना जरूरी है कि यहां कठोरता का अर्थ कभी भी गंदे हाथ नहीं हैं। इसलिए अगर आपको लगता है कि पुरुष होने के नाते आप हाथों की सफाई को नजरअंदाज कर सकते हैं तो आप गलत हैं। हाथों का साफ सुथरा होना आपके व्यक्तित्व को दर्शाता है। आइए जानते हैं कि कैसे आप अपने हाथों की केयर कर सकते हैं?

विशेषज्ञों का मानना है कि जितना महत्व किसी का चेहरा उसके व्यक्तित्व के लिए रखता है उसके हाथों की भी उतनी ही अहमियत होती है। जब भी आप बात करते हैं या आप किसी भी व्यक्ति से मिलते हैं तब सबसे पहले आपके हाथ दूसरों के संपर्क में आते हैं, इसलिए अपने हाथों को अनदेखा न करें।

कैसे करें शुरुआत?
* हाथों में नमी बनाए रखें
आपके हाथों की नमी जितनी बनी रहेगी आपके हाथ उतने की कोमल रहेंगे। इसके लिए आप बाजार में मिलने वाली किसी अच्छी हैंडक्रीम का प्रयोग कर सकते हैं। आप चाहें तो सप्ताह में दो बार अपने हाथों को चीनी से धोएं। इसके लिए हाथ में थो़डी सी चीनी लें, थो़डा सा पानी और गुलाब जल लें। अब इसे अपने हाथों में अच्छे से मल लें। अब इसे पानी से साफ कर थो़डा सा गुलाब जल लगा लें. यदि आपके हाथ ड्राई बहुत हैं तो आप थोड़ा—सा ऑलिव आयल भी हाथों पर लगा सकते हैं।

* नाखूनों रखें छोटे-छोटे
पुरुषों में नाखून चबाने की एक गंदी आदत होती है। ऐसे में आढे-तिरछे या कटे-फटे नाखून, हाथों के लिए आपकी लापरवाही को दर्शाते हैं। हमेशा अपने नाखूनों को नेलकटर की सहायता से ट्रिम करते रहें। नाखूनों को काटने के बाद फाइलर से नाखूनों के आकार को भी सुधारना न भूलें।

* मैनीक्योर करें
मैनीक्योर की जरुरत सिर्फ महिलाओं को ही नहीं बल्कि पुरुषों के लिए भी यह जरूरी है। आप 15 से 20 दिन में एक बार मैनीक्योर करा सकते हैं। आजकल अलग-अलग तरह के बहुत से मैनीक्योर बाजार में आ गए हैं।

* नेल शाइनर का प्रयोग करें
बाजार में नाखूनों को चमकदार बनाने वाली नेल शाइनर स्ट्रिप्स मिलती हैं। इनके प्रयोग करने से नाखूनों में चमक आती है और यह नाखूनों और हाथों को खूबसूरत बनाने में भी मदद करती हैं।

इन बातों का रखें ध्यान
– नाखूनों को दांतों से न कुतरें।
– हमेशा नेल कटर का ही प्रयोग करें ।
– रात में सोने से पहले हैंड क्रीम का प्रयोग अवश्य करें। यदि आप वेट लिफ्टिंग करते हैं तो क्रीम का प्रयोग अधिक करें।
अपने नाखूनों का प्रयोग किसी उपकरण की तरह न करें।
– हाथों को साफ रखें, क्योंकि यदि आपके हाथ साफ होंगे तो आप खूबसूरत होने के साथ-साथ स्वस्थ भी होंगे।

ट्रांसफैट – कई बीमारियों को न्योता
सरसों के तेल को छोड़कर सभी खाद्य तेलों में ट्रांसफैट होता है और न्यूनतम ट्रांसफैट भी शरीर के लिए नुकसानदंह होता है। ऐसे में जरूरी है कि घी-तेल के डिब्बों पर मोटे-मोटे अक्षरों में लिखा होना चाहिए कि ट्रांसफैट शरीर के लिए घातक होता है। हृदय रोग विशेषज्ञों का मानना है कि किसी भी मात्रा में ट्रांसफैट शरीर में जाना नुकसानदायक होता है।

किसी भी खाद्य तेल में इसकी मात्रा शून्य नहीं होती इसलिए इसकी जितनी कम मात्रा शरीर में पहुंचे वही अच्छा है। केवल सरसों का तेल ही ट्रांसफैट मुक्त होता है। बाकी सभी प्रकार के तेलों में यह अलग-अलग मात्रा में मौजूद रहता है। जब कभी भी फैट की बात आती है तो ट्रांसफैट्स की चर्चा अवश्य होती है। एक्सपर्ट्स की मानें तो ट्रांसफैट के सेवन से दिल की बहुत सी परेशानियां जन्म ले सकती हैं। आइए जानते हैं कि ट्रांसफैट क्या है और यह कैसे हमारे दिल को कमजोर कर सकता है?

क्या हैं ट्रांसफैट्स?
जब वेजिटेबल ऑयल में हाइड्रोजन को मिलाया जाता है तब हाइड्रोजन आॅयल का निर्माण होता है। यही ऑयल ट्रांसफैट है। ऐसा करने से ऑयल सॉलिड हो जाते हैं।

LEAVE A REPLY