internet user
internet user

नई दिल्ली। क्या अगले 48 घंटों में यूजर्स को इंटरनेट का इस्तेमाल करने में परेशानी का सामना करना होगा? इस तरह की कई खबरें दुनियाभर में छाई हुई हैं। इस संबंध में रशिया टुडे ने एक रिपोर्ट प्रकाशित की है। इसके मुताबिक, अगले कुछ घंटोंं तक इंटरनेट यूजर्स को नेटवर्क फेलियर होने की परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। रिपोर्ट कहती है कि मुख्य डोमेन सर्वर्स और इससे जुड़े नेटवर्क इन्फ्रास्ट्रक्चर कुछ समय के लिए डाउन रहेंगे।

इसके बाद सोशल मीडिया पर यह चर्चा जोरों से होने लगी कि इंटरनेट कनेक्टिविटी में दिक्कत हो सकती है। ऐसी भी खबरें देखी गईं जिनमें कहा गया था कि मुख्य डोमेन सर्वर का आगामी कुछ घंटों तक मेनटेनेंस होगा। बता दें कि इंटरनेट का बंद या शुरू होना यूजर के नेटवर्क और सर्विस प्रदाता (इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर-आईएसपी) से जुड़ा है।

इस दौरान ‘इंटरनेट कॉर्पोरेशन ऑफ असाइंड नेम्स एंड नंबर्स’ (आईसीएएनएन) क्रिप्टोग्राफिक कीज में बदलाव करेगी और मेनटेनेंस की प्रक्रिया को आगे बढ़ाएगी। इसके मद्देनजर यूजर्स की इंटरनेट तक पहुंच बाधित हो सकती है।

दरअसल क्रिप्टोग्राफिक कीज में यह परिवर्तन सुरक्षा के लिहाज से किया जाता है। तकनीकी विशेषज्ञों के मुताबिक, ऐसा इंटरनेट एड्रेस बुक, नेम सिस्टम (डीएनएस) को और सुरक्षित करने के लिए किया जाता है। आईसीएएनएन का कहना है कि मौजूदा दौर में साइबर हमलों से सिस्टम की सुरक्षा के लिए यह आवश्यक है।

आईसीएएनएन एक संस्था है जो दुनियाभर के इंटरनेट नेटवर्क की सुरक्षा और मेनटेनेंस का काम देखती है। इसके अलावा इस पर आईपी एड्रेस, डीएनएस मैनेजमेंट सहित कई तकनीकी कार्यों की जिम्मेदारी है। एक रिपोर्ट में कहा गया है कि यदि आपका आईएसपी आउटडेटेड है तो ग्लोबल नेटवर्क तक पहुंचने में दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

ये भी पढ़िए:
– इंडिया टीवी-सीएनएक्स सर्वे: मप्र में भाजपा को बहुमत के संकेत, पसंद में शिवराज अव्वल
– कर्नाटक: दक्षिण तक पहुंची कांग्रेस-बसपा की रार? सरकार को बसपा विधायक ने दिया झटका
– गंगा की रक्षा के लिए 22 जून से आमरण अनशन कर रहे स्वामी सानंद का निधन
– कश्मीर: पीएचडी छोड़कर आतंकी बना मन्नान वानी सुरक्षाबलों की कार्रवाई में ढेर

LEAVE A REPLY