ममता बनर्जी द्वारा एनआरसी का तीव्र विरोध किए जाने के बाद पार्टी में ही चर्चा है कि कहीं ये बयान उनका नुकसान तो नहीं करा देंगे। इससे पहले ममता गृहयुद्ध और रक्तपात जैसी आशंकाओं की बात कह चुकी हैं, जिससे कांग्रेस नेता भी खुश नहीं थे।

गुवाहाटी। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) पर जिस तरह के बयान दिए, उससे उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस में बगावत शुरू हो गई है। पार्टी के असम प्रदेशाध्यक्ष द्विपेन पाठक ने अपना इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कहा है कि ममता के बयान से तनाव पैदा होगा, जिसका कसूर उनके सिर मढ़ा जाएगा। ऐसे में उनके लिए पद छोड़ देना ही सबसे अच्छा विकल्प है।

ममता बनर्जी ले एनआरसी मामले को लेकर कहा था कि यह असम से बंगालियों को बाहर करने के लिए लागू किया जा रहा है। अब उनका यह बयान उनकी ही पार्टी में बिखराव पैदा कर रहा है। तृणमूल के असम प्रदेश अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी निभाते आ रहे पाठक ने भविष्य की स्थिति को भांपते हुए पद ही छोड़ दिया। वे कहते हैं, मैं उनके इस बयान से सहमत नहीं हूं। इससे यहां तनाव पैदा होगा और असम में टीएमसी चीफ होने के नाते मुझे दोषी ठहराया जाएगा। इसलिए मैंने अपना पद छोड़ दिया है।

ममता बनर्जी द्वारा एनआरसी का तीव्र विरोध किए जाने के बाद पार्टी में ही चर्चा है कि कहीं ये बयान उनका नुकसान तो नहीं करा देंगे। इससे पहले ममता गृहयुद्ध और रक्तपात जैसी आशंकाओं की बात कह चुकी हैं, जिससे कांग्रेस नेता भी खुश नहीं थे। अब असम में पार्टी को झटका लगा है, क्योंकि ममता के बयान से जुड़े सवाल द्विपेन पाठक के जिम्मे आते, जो उन्हें मुश्किल में डाल सकते थे।

चूंकि असम के मूल निवासी काफी सालों से बांग्लादेशी घुसपैठियों का विरोध कर रहे हैं। कल ममता बनर्जी का एक वीडियो भी काफी देखा गया। वर्ष 2005 में उन्होंने बांग्लादेशी घुसपैठ को त्रासदी करार दिया था, लोकसभा में हंगामा कर आसन की ओर कागज फेंक दिए थे। अब घुसपैठियों को निकालने के लिए उनमें वे तीखे तेवर दिखाई नहीं देते। कई लोगों ने ममता के इस रुख की आलोचना की है।

जरूर पढ़िए:
– 13 साल में ऐसे बदला ममता का नजरिया, तब घुसपैठ को बताया आपदा, लोकसभा में फेंके कागज
– वॉट्सअप के जरिए आईएसआई डाल रही युवाओं पर जाल, इन मैसेज से बना रही निशाना
– सरकारी बंगले में ‘तोड़फोड़’ से 10 लाख का नुकसान, अखिलेश से वसूली की तैयारी में योगी सरकार

Facebook Comments

1 COMMENT

  1. ममता बनर्जी दी कि राजनीति देश हित में नहीं है

LEAVE A REPLY