indian army killed terrorists
indian army killed terrorists

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में सेना को आतंक के खिलाफ एक और बड़ी कामयाबी मिली है। सेना ने अनंतनाग में बुधवार सुबह मुठभेड़ में दो आतंकियों को मार गिराया। इनके नाम अल्ताफ अहमद डार उर्फ अल्ताफ कचरू और उमर राशिद हैं। कचरू हिज्बुल कमांडर था। वह पूर्व में मारे गए आतंकी बुरहान वानी का खास था। वह आतंक की कई घटनाओं में शामिल रहा है। कचरू मुख्यत: कुलगाम में सक्रिय रहा। अब सेना ने उसे मार गिराया।

माना जाता है कि बुरहान वानी के मारे जाने के बाद कचरू उसकी जगह लेना चाह रहा ​था। इसलिए वह खुद को आतंकी संगठन में सक्रिय कर चुका था। उसने कश्मीर के कई युवाओं को आतंकी संगठन में शामिल होने के लिए उकसाया था। वह हथियारों का बेहद शौकीन था। ​

वह स्थानीय लोगों से मेलजोल बढ़ाकर रखता था। इस तरह व​ह पूर्व में सुरक्षाबलों से बचता रहा, लेकिन आखिर में उसका भी वही अंजाम हुआ जो एक आतंकी का होता है। भारतीय सेना उसे ए++ श्रेणी का आतंकी मानकर तलाश रही थी। बुधवार सुबह बिनपोरा गांव में मुठभेड़ हुई। दोनों ओर से काफी गोलीबारी हुई। उसके बाद सेना ने दोनों आतंकियों को मार गिराया।

सेना ने इन आतंकियों के पास काफी मात्रा में हथियार बरामद किए हैं, जिनका इस्तेमाल ये दहशत फैलाने के लिए करते थे। मुठभेड़ के दौरान उपद्रवी तत्वों से निपटने के लिए खास इंतजाम किए गए। इस इलाके की मोबाइल और इंटरनेट सेवा बंद की गई। उल्लेखनीय है कि कचरू पर 15 लाख रुपए का इनाम था। उसके खात्मे से जम्मू-कश्मीर में शांति स्थापित करने में मदद मिलेगी।

वहीं शोपियां जिले के अरहामा गांव से खबर मिली है कि यहां पुलिस टीम पर आतंकियों ने हमला कर दिया। इसमें 4 पुलिसकर्मी शहीद हो गए हैं। विभिन्न रिपोर्टों में दावा किया गया है कि आतंकी मौके से हथियार लेकर भाग गए हैं। सुरक्षाबलों ने इस इलाके की घेराबंदी कर आतंकियों की तलाश शुरू कर दी है।

ये भी पढ़िए:
– जिस महिला को समझ रहे थे एक मासूम कैब ड्राइवर, वह निकली खतरनाक गैंगस्टर
– खुरदरे हाथों से हैं परेशान तो आजमाएं ये अचूक नुस्खे, गुलाब की तरह मुलायम रहेगी आपकी त्वचा
– आईएस में आतंकी बनकर रहा यह खुफिया अधिकारी, पता चलने पर कर दी गर्दन कलम
– फर्जी दस्तावेजों से 38 लोग बन गए ‘गुरुजी’, पोल खुली तो हुए बर्खास्त

LEAVE A REPLY