pm modi reaches kedarnath
pm modi reaches kedarnath

देहरादून। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिवाली के शुभ अवसर पर देशवासियों को शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने ट्वीट किया है, ‘मेरी कामना है कि प्रकाश का यह पावन पर्व सबके जीवन में सुख, शांति एवं समृद्धि लेकर लाए।’ हर साल की तरह इस बार भी मोदी रोशनी का यह पर्व खास अंदाज में मनाएंगे। वे केदारनाथ धाम में पूजा-अर्चना के बाद सैनिकों के साथ दिवाली मनाएंगे।

सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री को भी दिवाली की बहुत शुभकामनाएं मिलीं। इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने हिंदी में ट्वीट किया है। उन्होंने मोदी और समस्त भारतीयों को दिवाली की शुभकामनाएं दी हैं। बेंजामिन नेतन्याहू ने लिखा, ‘इजरायल के लोगों की ओर से मैं अपने प्यारे दोस्त नरेंद्र मोदी और भारत के लोगों को दिवाली की शुभकामनाएं देना चाहता हूं। रोशनी के इस चमकदार त्योहार से आपको खुशी और समृद्धि मिले।’ इसके बाद बेंजामिन नेतन्याहू ने लोगों से कहा, ‘हमें बेहद ख़ुशी होगी अगर आप इस ट्वीट का उत्तर उस शहर के नाम से दें जहां आप यह त्योहार मना रहे हैं।’

प्रधानमंत्री मोदी ने बेंजामिन नेतन्याहू को दिवाली की शुभकामनाओं के लिए धन्यवाद कहा है। उन्होंने बताया कि वे सरहदी इलाकों में जाकर सैनिकों के साथ दिवाली मनाते हैं। इस बार भी वे इन जांबाजों के बीच जाकर दिवाली मनाएंगे। उन्होंने इस समय को बहुत खास बताया है। मोदी ने बेंजामिन नेतन्याहू के ट्वीट का उत्तर हिब्रू में दिया, जो इजरायल की आधिकारिक भाषा है।

देशवासियों की खुशहाली के लिए प्रार्थना
प्रधानमंत्री मोदी दिवाली के मौके पर केदारनाथ धाम जाकर पूजा करेंगे और देशवासियों की खुशहाली के लिए भगवान से प्रार्थना करेंगे। मोदी के इस दौरे को लेकर स्थानीय लोगों में उत्साह है। धाम की यात्रा के लिए मोदी सुबह देहरादून पहुंचे, यहां उनका स्वागत किया गया। केदारनाथ धाम में खूब सजावट की गई है। इस बार लोगों ने ईको फ्रेंडली दिवाली मनाने का फैसला किया है। रात को केदारनाथ धाम 5,000 दीपों से जगमगा उठेगा।

हर्षिल पहुंचे मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देहरादून से हर्षिल पहुंच चुके हैं। यह स्थान उत्तराखंड में भारत-चीन सीमा के निकट स्थित है। जानकारी के अनुसार, यहां सेना का बेस कैंप 11 हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित है। यहां मोदी ने सेना प्रमुख और आईटीबीपी (इंडो तिबेटन बॉर्डर पुलिस) के डीजी से मुलाकात की। प्रधानमंत्री जवानों से भी मिले। उन्होंने जवानों के साथ तस्वीरें खिंचाईं और मिठाई खिलाई।

मोदी ने जवानों के शौर्य और कर्तव्यनिष्ठा की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि इतने बर्फीले इलाके में भी अपने कर्तव्य के प्रति आपकी निष्ठा ही देश की शक्ति है, जिससे 125 करोड़ भारतवासियों का भविष्य और उनके सपने सुरक्षित रहते हैं। मोदी ने पूर्वसैनिकों के लिए शुरू की गईं कल्याणकारी योजनाओं और वन रैंक, वन पेंशन का उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि रक्षा के क्षेत्र में भारत नई ऊंचाइयां हासिल कर रहा है। प्रधानमंत्री ने संयुक्त राष्ट्र के शांति अभियानों में जांबाजों की भूमिका को प्रशंसनीय बताया।

ये भी पढ़िए:
– बांग्लादेश: 1971 के युद्ध में हिंदुओं की हत्या करने वाले दो कट्टरपंथियों को सजा-ए-मौत
– बिहार में छठव्रतियों को 6 हजार रु. मिलने की अफवाह, डाकघरों में उमड़ी भीड़ से कर्मचारी परेशान
– चीन से मदद मांगने इमरान पहुंचे बीजिंग, पाकिस्तानी चैनल ने लिखा भीख, खूब लगे ठहाके

LEAVE A REPLY