सांकेतिक चित्र
सांकेतिक चित्र

वॉशिंगटन/एएफपी। रूस के युद्धक विमानों ने कुछ महीने पहले सीरिया में विद्रोहियों के कब्जे वाले क्षेत्र में 12 घंटे के भीतर चार अस्पतालों पर बम बरसाए थे। न्यूयॉर्क टाइम्स की एक खबर में यह दावा किया गया है।

खबर के अनुसार ‘नबाद अल-हयात सर्जिकल अस्पताल’ पर हमले की आशंका के चलते कर्मचारियों ने उसे तीन दिन पहले (हमले से) ही खाली कर दिया था। 12 घंटे के भीतर किए इन हमलों की शुरुआत पांच मई को हुई थी।

रूस के ‘ग्राउंड कंट्रोलर’ ने पायलट को अस्पताल की सटीक जानकारी दी थी। उसी ने हमले करने का निर्देश भी दिया था, जिसके बाद पायलट ने बमबारी की। इससे कुछ किलोमीटर दूर ‘कफर नबल सर्जिकल अस्पाल’ पर भी थोड़ी देर बाद कई बम गिराए गए।

इसके अलावा रूस के युद्धक विमानों ने उन 12 घंटे के भीतर ‘कफर जिता केव अस्पताल’ और ‘अल-अमल ऑर्थोपेडिक अस्पताल’ को भी निशाना बनाया। इन चारों अस्पतालों ने हवाई हमले से बचने के लिए संयुक्त राष्ट्र से सम्पर्क किया था।

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने अस्पतालों पर हुए हमलों को लेकर पिछले महीने आंतरिक जांच शुरू करने की घोषणा भी की थी।