शाह महमूद कुरैशी
शाह महमूद कुरैशी

जिनेवा/दक्षिण भारत। पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर को लेकर दशकों तक झूठ बोला, लेकिन अब उसके ही विदेश मंत्री ने अंतरराष्ट्रीय मीडिया के सामने सच्चाई उगल दी। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (यूएनएचआरसी) के 42वें सत्र को संबोधित करने गए पाकिस्तानी विदेश मंत्री कुरैशी ने मीडिया के सामने जम्मू-कश्मीर का जिक्र बतौर भारतीय राज्य किया।

मीडिया को बयान दे रहे कुरैशी का यह वीडियो वायरल हो रहा है। पाकिस्तानी मंत्री कह रहे हैं कि यदि कश्मीर में जनजीवन सामान्य हो गया है तो अंतरराष्ट्रीय मीडिया, अंतरराष्ट्रीय संगठन, एनजीओ, सिविल सोसायटी को भारत के राज्य जम्मू-कश्मीर में क्यों नहीं जाने दे रहे।

हालांकि सुरक्षा परिषद से खाली हाथ लौट चुके पाकिस्तान के लिए यहां से भी कोई उम्मीद नहीं है। कुरैशी ने सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि शीर्ष मानवाधिकार निकाय को इस मुद्दे को लेकर अपनी उदासीनता से विश्व मंच पर शर्मसार नहीं होना चाहिए।

कुरैशी ने कहा कि यूएनएचआरसी को भारत द्वारा जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म किए जाने के बाद कश्मीर की स्थिति के प्रति तटस्थ भाव नहीं अपनाना चाहिए। पाकिस्तानी मंत्री ने कहा, आज मैंने कश्मीर के लोगों के लिए न्याय और सम्मान की खातिर मानवाधिकार पर विश्व की अंतरात्मा के महत्वपूर्ण स्थल मानवाधिकार परिषद का दरवाजा खटखटाया है।

कुरैशी ने कहा, हमें इस प्रतिष्ठित संस्था को वैश्विक मंच पर लज्जित नहीं होने देना चाहिए। इस परिषद का संस्थापक सदस्य होने के नाते पाकिस्तान ऐसा होने से रोकने के लिए नैतिक रूप से बाध्य है। .. दूसरी ओर, कुरैशी का बयान सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद यूजर्स उन पर चुटकी ले रहे हैं।