पेरिस में प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत करने उमड़ा मुस्लिम समाज.
पेरिस में प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत करने उमड़ा मुस्लिम समाज.

पेरिस/दक्षिण भारत। फ्रांस के दौरे पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पेरिस में भव्य स्वागत किया गया। इस अवसर पर गुजराती मूल के वोहरा मुसलमानों ने मोदी की अगवानी। सिर पर धार्मिक टोपी और हाथ में तिरंगा थामे वोहरा मुसलमानों की ये तस्वीरें जब सोशल मीडिया में वायरल हुईं तो पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान का पारा चढ़ गया।

कश्मीर मसले पर शिकस्त खा चुका पाक इससे बौखला गया और उसके मंत्री अपनी मानसिक ‘व्यथा’ का परिचय देते हुए ट्वीट करने लगे। हालांकि इन ट्वीट पर भारतीय यूजर्स ने उन्हें आड़े हाथों लिया और अपने मुल्क के हालात सुधारने की सलाह दी, जो कंगाली के ​कगार पर आ पहुंचा है।

क्या बोले इमरान के मंत्री?
बता दें कि जब मोदी पेरिस पहुंचे तो भारत माता के जयकारे गूंजने लगे। यह नजारा सोशल मीडिया पर देख इमरान खान के मंत्री फवाद चौधरी भड़क उठे। उन्होंने अपनी भड़ास ट्वीट के जरिए जाहिर की। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के कार्यालय द्वारा जारी वीडियो पर जवाब देते हुए लिखा, ‘कितने पैसे लग गए इस ड्रामे पर?’

इसके बाद पाकिस्तानी मंत्री भारतीय यूजर्स के निशाने पर आ गए। एक यूजर ने उन्हें जवाब दिया, टमाटर और रोटी में बिकने वाले आज पैसे पूछ रहे हैं! एक और यूजर ने फवाद चौधरी के लिए कहा, आपके देश के मुसलमान बिकते होंगे दो-दो रुपए में…मेरे देश के नहीं। इसके अलावा कई यूजर्स ने पाकिस्तान में आतंकवाद और डॉलर के मुकाबले गिरते रुपए को लेकर मीम्स के जरिए सवाल दागे।

पाक को सता रही ‘शांति’ की ​फिक्र!

भारत सरकार द्वारा हाल में अनुच्छेद-370 के प्रावधानों को हटाए जाने और जम्मू-कश्मीर एवं लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश बनाने के फैसले से पाकिस्तान छटपटा रहा है। पूरी दुनिया में आतंकवाद फैलाने वाला पाक अब शांति की ‘फिक्र’ कर रहा है। पाकिस्तानी सरकार और फौज का जब कोई दांव काम नहीं आया तो उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए भड़काऊ और भ्रमित करने वाली सामग्री पोस्ट करनी शुरू कर दी है।

कैप्टन अमरिंदर ने भी फटकारा
फवाद चौधरी ने भी पंजाबी भाषा में ट्वीट कर भारतीय सेना में सेवारत सिख सैनिकों को उकसाने की कोशिश की थी। हालांकि इसके बाद पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने उन्हें फटकार लगाई और ट्वीट का जवाब देते हुए कहा, भारतीय सेना अनुशासित और राष्ट्रवादी है। यह तुम्हारी पाकिस्तानी सेना की तरह नहीं है। उन्होंने पाकिस्तानी मंत्री को दो टूक कहा कि यहां तुम्हारी विभाजनकारी सलाह को कोई भाव देने वाला नहीं है। गौरतलब है कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई भी सोशल मीडिया पर ऐसे भड़काऊ पोस्ट करती है, जिनसे सतर्क रहने की जरूरत है।