लिंडसे होयले ब्रिटिश संसद के अध्यक्ष चुने गए बेर्काउ की जगह लेंगे

Lindsay Hoyle is seen at the House of Commons in London, Britain on Nov. 4, 2019. Labor MP Lindsay Hoyle was elected on Monday to succeed John Bercow as Speaker of Britain's House of Commons, one of the key jobs in British politics.

लंदन/एजेन्सी। ब्रिटेन के सांसदों ने लेबर पार्टी के सांसद लिंडसे होयले को संसद का नया अध्यक्ष चुना है। वह जॉन बेर्काउ की जगह लेंगे। वैसे तो इस पद के लिए चुनाव विशेष रूप से उल्लेखनीय नहीं होता, लेकिन पूर्व अध्यक्ष की ब्रेक्जिट में भूमिका के चलते यह महत्वपूर्ण हो गया है। बेर्काउ इस पद पर रहते हुए ब्रेक्जिट लड़ाई के केंद्र में थे। तीन साल से अधिक समय तक चली संसदीय बहस ने उन्हें विवादित हस्ती बना दिया था। ब्रेक्जिट समर्थक जहां उनके निंदक थे, वहीं ब्रेक्जिट विरोधी उनके प्रशंसक थे। छप्पन वर्षीय बेर्काउ ने 157वें अध्यक्ष के रूप में अपने कार्यकाल में सदन की व्यवस्था बनाए रखने के लिए 14 हजार से अधिक बार ऑर्डर, ऑर्डर शब्द का इस्तेमाल किया था। होयले 22 वर्ष से लेबर पार्टी के सांसद हैं। उन्होंने वर्ष 2010 से बेर्काउ के मातहत काम किया। इस पद की दौड़ में होयले के अतिरिक्त छह अन्य उम्मीदवार भी थे। लेकिन होयले इस पद के लिए सबसे पसंदीदा उम्मीदवार थे। सोमवार को हाउस ऑफ कॉमन्स में चौथे एवं अंतिम चरण का मतदान हुआ। इसमें 540 सांसदों ने मतदान किया जिनमें से 325 ने होयले का समर्थन किया। वह पहले तीन चरण के मतदान में भी जीते थे लेकिन हर बार इस पद के लिए आवश्यक बहुमत से कुछ दूर रह गए थे। होयले ने सांसदों से कहा, यह मेरे समक्ष आने वाली चुनौतियों और इस सदन के बारे में है।

होयले की जीत पर प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा, बीते वर्षों में मैने देखा है कि आपमें बहुत गुण हैं।