ग्रेटा थनबर्ग
ग्रेटा थनबर्ग

डेनवर/एपी। स्वीडन की चर्चित पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग ने पर्यावरण रैली को संबोधित करते हुए कहा कि जलवायु परिवर्तन को लेकर लंबे समय तक आवाज उठाने के लिए युवाओं को तैयार रहना चाहिए और पीछे नहीं हटना चाहिए।

थनबर्ग ने कहा कि वह और उनके साथी युवा कार्यकर्ता पर्यावरण को बचाने के वास्ते कदम उठाने के लिए सत्ता के आगे नहीं गिड़गिड़ाएंगे क्योंकि उन्हें उम्मीद है कि नेता लोग उन सबको नजरअंदाज करते रहेंगे। थनबर्ग (16) ने रैली में उपस्थित लोगों से कहा, बल्कि, हम उन्हें बताएंगे कि अगर उन्होंने कुछ नहीं किया तो हम करेंगे।

प्रांत की राजधानी के निकट सिविक सेंटर पार्क के पास उपस्थित हजारों लोगों की भीड़ को उन्होंने करीब 10 मिनट तक संबोधित किया। रैली में कोलोराडो की आठ वर्षीया कार्यकर्ता माधवी चित्तूर कार्यकर्ता भी थी, जिसने प्लास्टिक के खिलाफ प्रांत में अभियान छेड़ा है।

थनबर्ग ने पर्यावरण को बचाने के लिए कुछ नहीं करने और विज्ञान को नजरअंदाज करने पर एक बार फिर नेताओं को झकझोरा।

पिछले महीने संयुक्त राष्ट्र में अपने चर्चित संबोधन की तरह उन्होंने फिर कहा, ‘आपकी हिम्मत कैसे हुई?’ रैली में शामिल लोगों ने भी उनके वाक्य को दोहराया।