आतंकवादी मसूद अजहर
आतंकवादी मसूद अजहर

इस्लामाबाद/​दक्षिण भारत। पुलवामा हमले के बाद भारत द्वारा बालाकोट में कार्रवाई और लगातार सख्ती से पाकिस्तान सहम गया है। उसने मंगलवार को जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर के भाई समेत 44 आतंकियों को हिरासत में लिया है। इस संबंध में पाकिस्तान के आंतरिक मामलों के मंत्री शहरयार अफरीदी ने जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि मसूद अजहर का भाई मुफ्ती अब्दुल रऊफ हिरासत में लिया गया है। वहीं, मसूद अजहर का रिश्तेदार हम्माद अजहर भी हिरासत में लिया गया है। मंत्री ने दावा किया कि यह कार्रवाई किसी प्रकार के दबाव में नहीं हुई हैं।पाकिस्तान के गृह मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा है कि इन लोगों को जांच के सिलसिले में हिरासत में लिया गया है। मंत्री शहरयार ने कहा कि प्रतिबंधित संगठनों के खिलाफ कार्रवाई की गई है।

बता दें कि पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान पर चौतरफा दबाव था कि वह अपने पाले हुए आतंकी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई करे। ऐसे में दुनिया को दिखाने के लिए उसने उक्त आतंकियों को हिरासत में लिया है। पाकिस्तानी मंत्री ने कहा कि भारत के डोजियर में मसूद के अलावा अब्दुल रऊफ और हम्माद का नाम भी था।

मंत्री शहरयार ने कहा कि सोमवार को नेशनल एक्शन प्लान के तहत बैठक हुई थी। उसमें यह तय हुआ कि प्रतिबंधित संगठनों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। इसी क्रम में 44 लोगों को हिरासत में लिया गया। मंत्री ने पा​किस्तान की नीतियों का गुणगान करते हुए कहा कि हम हमारी ​जमीन का किसी मुल्क के खिलाफ इस्तेमाल होने की इजाजत नहीं देते।

हालांकि आतंकियों की नकेल कसने में पाकिस्तान का रिकॉर्ड जगजाहिर है। इस समय जब चारों ओर से उसके खिलाफ उंगलियां उठ रही हैं तो वह दुनिया को गुमराह करने के लिए उन्हीं ​आतंकियों को हिरासत में ले रहा है जिन्हें अब तक पालता आया है।

पाकिस्तान आतंकी हाफिज़ सईद के संगठन जमात-उद-दावा को लेकर झूठा दावा कर चुका है। उसने एफएटीएफ की बैठक से पहले कहा था कि इस आतंकी के संगठन पर प्रतिबंध लगा दिया, जबकि वह सिर्फ निगरानी सूची में था। हाफिज सईद पहले की तरह भारतविरोधी गतिविधियों में लिप्त था।

LEAVE A REPLY

16 − seven =