जीत के बाद टीम इंडिया
जीत के बाद टीम इंडिया

रांची/भाषा। भारत ने शानदार आलराउंड प्रदर्शन के दम पर मंगलवार को यहां दक्षिण अफ्रीका को तीसरे और अंतिम टेस्ट में पारी और 202 रन से हराकर शृंखला में 3-0 से क्लीनस्वीप किया। भारत को इस जीत से 40 अंक मिले और उसने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के अपने सभी पांचों मैच जीतकर 240 अंक के साथ शीर्ष पर अपनी स्थिति मजबूत कर ली है।

विराट कोहली की अगुआई में भारत ने 11वीं टेस्ट शृंखला जीती है। भारतीय टीम ने साथ ही पहली बार किसी टेस्ट शृंखला में दक्षिण अफ्रीका का क्लीनस्वीप किया है। भारत ने घरेलू सरजमीं पर लगातार 11वीं शृंखला जीती। भारत ने कल तीसरे दिन ही दक्षिण अफ्रीका को फालोआन के लिए मजबूर करते हुए दूसरी पारी में उसका स्कोर आठ विकेट पर 132 रन कर दिया था।

मेजबान टीम ने आज सिर्फ दो ओवर में ही जीत की औपचारिकता पूरी करते हुए दक्षिण अफ्रीका को 48 ओवर में 133 रन पर समेट दिया। भारत ने पहली पारी नौ विकेट पर 497 रन बनाने के बाद घोषित की थी जिसके जवाब में दक्षिण अफ्रीका की टीम पहली पारी में 162 रन ही बना सकी थी।

शृंखला और मैच का नतीजा भारत के दबदबे को दर्शाता है जबकि दक्षिण अफ्रीका की टीम के गिरते स्तर की ओर भी इशारा करता है जो भारत की मजबूत बल्लेबाजी और गेंदबाजी को कोई टक्कर नहीं दे पाई। पदार्पण कर रहे बाएं हाथ के स्पिनर शाहबाज नदीम (18 रन पर दो विकेट) ने सुबह के दूसरे ओवर की अंतिम दो गेंदों पर थ्यूनिस डि ब्रून (30) और लुंगी एनगिडी (00) को पवेलियन भेजकर भारत की जीत की औपचारिकता पूरी की।

डि ब्रून ने नदीम की नीची रहती गेंद पर विकेटकीपर रिद्धिमान साहा को कैच थमाया जबकि एनगिडी ने अगली गेंद पर सीधा शाट खेला लेकिन गेंद दूसरे छोर पर खड़े दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाज एनरिक नोर्टजे (05) के हाथ से टकराकर नदीम के हाथों में पहुंच गई।

भारत की ओर से मोहम्मद शमी ने 10 रन देकर तीन विकेट जबकि उमेश यादव ने 35 रन देकर दो विकेट चटकाए। रविंद्र जडेजा और रविचंद्रन अश्विन को एक-एक विकेट मिला। तीन टेस्ट मैचों की शृंखला में भारत ने स्वदेश में छठी बार क्लीनस्वीप किया है। भारत ने पहला टेस्ट 203 रन से और दूसरा पारी और 137 रन से जीता था।

इस श्रृंखला से सलामी बल्लेबाज की भूमिका की शुरुआत करने वाले रोहित शर्मा ने तीन टेस्ट में 529 रन जोड़े। मयंक अग्रवाल ने भी एक दोहरा शतक और एक शतक जड़ा जिससे भारत की सलामी जोड़ी की समस्या फिलहाल हल होती नजर आ रही है। शृंखला के दौरान भारत के तेज गेंदबाजों ने जसप्रीत बुमराह की गैरमौजूदगी के बावजूद शानदार प्रदर्शन किया। स्ट्रेस फ्रेक्चर के कारण बुमराह इस शृंखला में नहीं खेल पाए।

रविचंद्रन अश्विन (15 विकेट), रविंद्र जडेजा (13 विकेट) और शाहबाज नदीम (एक मैच में चार विकेट) की स्पिन तिकड़ी ने शृंखला में 32 विकेट चटकाए जबकि मोहम्मद शमी (13 विकेट), उमेश यादव (दो टेस्ट में 11 विकेट) और इशांत शर्मा (दो टेस्ट में दो विकेट) की तेज गेंदबाजी तिकड़ी ने 26 विकेट हासिल किए।

शमी ने मैच के बाद कहा, हम अपनी जिम्मेदारी निभाने के लिए हमेशा तैयार हैं। एक कप्तान के रूप में विराट आपको आत्मविश्वास देता है, आप वह कीजिए जो करना चाहते हैं। हम गेंद को सही लाइन और लेंथ के साथ करने का प्रयास करते हैं।