बेंगलूरु। शहर में कुछ स़डकों की पहचान शॉपिंग प्रेमियों के पसंदीदा स्थल के रूप में है। ब्रिगेड रोड और कॉमर्शियल स्ट्रीट को दशकों से हाई प्रोफाइल शॉपिंग गंतव्य के रूप में जाना जाता है, वहीं केआर मार्केट क्षेत्र में एवेन्यू रोड हर किस्म के खरीददारों से हर दिन गुलजार रहने वाली स़डक है। हालांकि इन स़डकों से होकर दुकानों तक जाना दिन ब दिन मुश्किल होता जा रहा है। बिग्रेड रोड, कॉमर्शियल स्ट्रीट, एवेन्यू रोड जैसी स़डकों पर वाहनों का बढता दबाव ग्राहकों को इन शॉपिंग गंतव्यों से दूर करता जा रहा है। इन स़डकों पर पैदल चलना या स़डक पार करना किसी मुसीबत से कम नहीं है। सेन्ट्रल बिजनेस डि्ट्रिरक्ट (सीबीडी) में शुरुआती तौर पर इसे लागू करने की मांग प्रमुखता से उठाई जा रही है। ट्रैफिक दबाव में लगातार हो रही वृद्धि का नतीजा है कि बिग्रेड रोड और कॉमर्शियल स्ट्रीट जैसी स़डकों की रौनक भी खोने लगी है। वहीं एवेन्यू रोड से गुजरने में भी लोग घबराते हैं। ट्रैफिक दबाव और कुप्रबंधित व्यवस्था के कारण अब कई प्रमुख स़डकों पर वाहन मुक्त करने की मांग उठने लगी है। विशेषकर सप्ताहांत पर इन स़डकों पर वाहनों का आवागमन रोकने की मांग प्रमुखता से उठाई जा ही है। हालांकि यातायात पुलिस का कहना है कि स़डकों को वाहन मुक्त करने का निर्णय तभी लिया जा सकता है जब स्थानीय लोग और ट्रेडर एसोसिएशन इस दिशा में अपनी रुचि दिखाएं। ऐसा होने पर ही कॉमर्शियल स्ट्रीट, ब्रिगेड रोड, चर्च स्ट्रीट, चिकपेट, एवेन्यू रोड और इंदिरानगर, कोरमंगला तथा एचएसआर की कुछ स़डकों पर वाहनों का आवागमन रोका जा सकता है। यातायात पुलिस का कहना है कि शहर के कब्बन पार्क में सप्ताहांत और छुट्टियों के दिनों में वाहनों का प्रवेश या आवागमन वर्जित है लेकिन यह तभी हो पाया जब पर्यावरणविदों और स्थानीय लोगों ने कब्बन पार्क को वाहन मुक्त करने की मांग उठाई। अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (यातायात) हितेन्द्र ने एक अंग्रेजी अखबार से बात करते हुए कहा कि कॉमर्शियल स्ट्रीट, ब्रिगेड रोड, चिकपेट, एवेन्यू रोड आदि को वाहन मुक्त स़डक बनाने की जरुरत है। इन स़डकों पर पैदल चलने वाले राहगीरों की संख्या सप्ताहांत में बढ जाती है और उसी अनुपात में वाहनों की संख्या में इजाफा हो जाता है। नतीजतन राहगीरों की परेशानियां बढ जाती है। अगर ऐसी स़डकों को वाहनमुक्त किया जाता है तो न सिर्फ यहां खरीददारी करने आने वाले लोगांे की परेशानियां कम होंगी बल्कि इन क्षेत्रों में प्रदूषण का स्तर भी घटेगा।

शहरी विशेषज्ञों के अनुसार दुनिया के कई प्रमुख शहरों में इस प्रकार के नियम लागू हैं। हालांकि इसके लिए कुछ आवश्यक सुविधाओं को उन्नत करने की जरुरत है। विशेषकर पार्किंग स्थलों का निर्माण होना जरुरी है। कॉमर्शियल स्ट्रीट, ब्रिगेड रोड, चिकपेट, एवेन्यू रोड आदि के निकटतम क्षेत्र मंे अगर निर्धारित पार्किंग स्थलों का निर्माण होता है तभी वहां आने वाले ग्राहक अपने वाहनों को व्यवस्थित रूप से पार्किंग कर सकेंगे। इसके अतिरिक्त सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था को यूजर्स फ्रेंडली बनाने की भी जरुरत है। प़डोसी राज्य तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई के टी. नगर क्षेत्र को भी वाहन मुक्त क्षेत्र के रूप में विकसित किया गया है लेकिन वहां जरुरी सुविधाएं भी उन्नत की गई हैं। उसी भांति बेंगलूरु में भी बुनियादी सुविधाओं को विकसित करने की जरुरत है।

LEAVE A REPLY

eighteen + 8 =