वोट डालने के बाद अंगुली पर अमिट स्याही दिखाते हुए मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस। साथ में परिजन।
वोट डालने के बाद अंगुली पर अमिट स्याही दिखाते हुए मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस। साथ में परिजन।

मुंबई/भाषा। महाराष्ट्र की सभी 288 विधानसभा क्षेत्रों पर चुनाव के लिए सोमवार सुबह सात बजे मतदान शुरू हो गया। चुनाव मैदान में 235 महिलाओं समेत 3,237 उम्मीदवार हैं। मतदान सुबह सात बजे हुआ और यह शाम छह बजे तक चलेगा।

प्रमुख उम्मीदवारों में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस नेता अशोक चह्वाण तथा पृथ्वीराज चह्वाण शामिल हैं। फडणवीस नागपुर दक्षिण पश्चिम सीट से जबकि अशोक चव्हाण एवं पृथ्वीराज चव्हाण क्रमश: नांदेड़ जिले की भोकार एवं सतारा जिले की कराद दक्षिण सीट से चुनाव लड़ रहे हैं।

फडणवीस के नेतृत्व में भाजपा राज्य में दूसरे कार्यकाल की कोशिश कर रही है। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के पुत्र आदित्य ठाकरे (29) मुंबई के वर्ली निर्वाचन क्षेत्र से पहली बार चुनाव मैदान में उतरे हैं। युवा सेना के प्रमुख चुनावी राजनीति में उतरने वाले अपने परिवार के पहले नेता हैं।

राज्य की सतारा लोकसभा सीट पर उपचुनाव के लिए सोमवार को मतदान जारी है। पूर्व राकांपा नेता एवं वर्तमान सांसद उदयनराजे भोसले भाजपा के टिकट पर कांग्रेस राकांपा गठजोड़ के प्रत्याशी श्रीनिवास पाटिल से दो-दो हाथ कर रहे हैं।

राज्य में भाजपा ने 164 सीटों पर उम्मीदवार खड़े किए हैं जिसमें छोटे सहयोगी दल भी हैं जो पार्टी के चुनाव चिह्न कमल के तहत चुनाव लड़ रहे हैं। सहयोगी शिवसेना 124 सीटों पर चुनाव लड़ रही है। दूसरी ओर, कांग्रेस ने 147 सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं जबकि सहयोगी राकांपा ने 121 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े किए हैं।

विधानसभा चुनाव में मुख्य मुकाबला भाजपा की अगुवाई वाले महागठबंधन अथवा ‘महायुति’ एवं कांग्रेस राकांपा गठबंधन ‘महा अघाड़ी’ (मोर्चा) के बीच है। अन्य दलों में राज ठाकरे की अगुवाई वाली महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने 101 प्रत्याशी चुनाव मैदान में उतारे हैं। चुनाव में 1,400 निर्दलीय उम्मीदवार भी ताल ठोक रहे हैं।

राज्य में आठ करोड़ 98 लाख से अधिक मतदाता हैं जिसमें चार करोड़ 28 लाख से अधिक महिला एवं चार करोड़ 68 लाख से अधिक पुरुष मतदाता हैं। इन मतदाताओं में एक करोड़ छह लाख 76 हजार 13 ऐसे हैं जो 18 से 25 साल आयुवर्ग के बीच हैं।

राज्य भर में 96,661 मतदान केंद्रों पर लगभग 6.5 लाख मतदान कर्मियों को तैनात किया गया है। लगभग 1,35,021 वीवीपैट (मतदाता सत्यापन पेपर ऑडिट ट्रेल) मशीनें भी लगाई गई हैं। राज्य के 288 निर्वाचन क्षेत्रों में, नांदेड़-दक्षिण सीट में सबसे अधिक 38 उम्मीदवार हैं, जबकि रत्नागिरि जिले के चिपलुन में सिर्फ तीन उम्मीदवार हैं।

2014 के चुनावों में, भाजपा ने 122 सीटें, शिवसेना ने 63, कांग्रेस ने 42 और राकांपा ने 41 सीटें जीतीं थी। बाद में, विधायकों कृष्ण घोड़ा (पालघर) और बाला सावंत (बांद्रा-पूर्व) के निधन के कारण दो उपचुनाव हुए थे। शिवसेना ने दोनों सीटों पर अपनी जीत बरकरार रखी थी।