वायरल वीडियो से ली गईं तस्वीरें
वायरल वीडियो से ली गईं तस्वीरें

मुंबई/दक्षिण भारत। देश में ‘सहिष्णुता’ को लेकर अक्सर सवाल उठाने वाले अभिनेता नसीरुद्दीन शाह की बेटी हीबा शाह ‘असहिष्णुता’ के कारण चर्चा में आ गई हैं। एक अस्पताल ने हीबा पर अपने कर्मचारियों के साथ मारपीट के आरोप लगाए हैं। साथ ही घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

जानकारी के अनुसार, हीबा पर ये आरोप एक वेटनरी अस्पताल की ओर से लगाए गए हैं। अस्पताल ने कहा है कि हीबा ने 16 जनवरी को उसकी दो महिला कर्मचारियों के साथ मारपीट की। यह पूरी घटना सीसीटीवी कैमरे में रिकॉर्ड हो गई जिसकी मुंबई पुलिस द्वारा जांच की जा रही है।

हीबा के खिलाफ यह शिकायत फेलाइन फाउंडेशन ने दर्ज कराई है। यह संस्था जानवरों के लिए क्लिनिक चलाती है। वहीं, पुलिस इस मामले की जांच में जुटी है। एक रिपोर्ट के अनुसार, हीबा शाह की दोस्त ने वेटनरी अस्पताल में नसबंदी के लिए दो बिल्लियों के स्लॉट ​बुक किए। बाद में वह नहीं आ सकीं तो हीबा उन बिल्लियों को लेकर अस्पताल पहुंचीं।

View this post on Instagram

Absolutely unacceptable. This is the treatment given to animal welfare workers in our country. Shame! Heeba Shah, an actor, and Naseeruddin Shah's daughter walked into our foundation @thefelinefoundation to drop two cats for sterilization and was upset about having to wait for assistance for a few minutes. Lost her temper and started arguing with our staff and when sternly asked to exit the premise because of her rude and aggressive behavior, she physically assaulted two senior female staff members of @thefelinefoundation. All in all, she must have had to wait outside for not more than 5 mins, as per our CCTV footage. The first thing she said to our staff members, once attended to is – 'Don't you know who I am? How can you have me wait for so long outside without any assistance and how can no one help me in getting my cat cage out of the rickshaw on arrival at your clinic.' Which sounded all very odd to us. We saw no reason for her to throw her weight around, at a space she has never visited before. As one can see from the footage, her physical abuse was harsh, extremely violent and disturbing to say the least. In spite of repeated visits to the Versova Police station, no action has yet been taken on this woman. They have not even filed an FIR. Her actions are grave and brutal and uncalled for. We are tired of pleading for help and some action to be taken, it's been a week of struggle and all in vain. It's daunting that a system that anyway does nothing for our animals now fails us in a case related to assault, battery, and harassment; with clear proof and ample witnesses. I mean, what more does one have to do to get some justice here? (Continued in comments)

A post shared by Mriidu (@mriidu) on

अस्पताल में कर्मचारी उन्हें पांच मिनट इंतजार करने के लिए कहते हैं। बताया गया कि उस दौरान दूसरे जानवरों का इलाज चल रहा था। इस पर हीबा भड़क उठती हैं और कर्मचारियों से अभद्रता करने लगती हैं। वे उन कर्मचारियों को गुस्से में धमकी देने लगती हैं कि क्या उन्हें जानते नहीं!

आरोपों के अनुसार, हीबा उन कर्मचारियों से सवाल करती हैं कि उन्हें इतनी देर इंतजार कैसे करवा सकते हैं। यही नहीं, हीबा की यह भी शिकायत होती है कि रिक्शे से बिल्लियों का पिंजरा उतारने भी कोई नहीं आया।

जब ​बिल्लियों की भर्ती संबंधी कार्यवाही के लिए हीबा को संबंधित दस्तावेजों पर हस्ताक्षर करने के लिए कहा जाता है, तब भी वे नाराज हो जाती हैं और कर्मचारियों को खरी-खोटी सुनाती हैं। आखिर में जब अस्पताल कर्मचारियों ने हीबा को जाने के लिए कहा तो उन्होंने दो महिला कर्मचारियों के साथ मारपीट कर दी।

रिपोर्ट के अनुसार, हीबा के खिलाफ आईपीसी की धारा 323, 504 और 506 के अंतर्गत मामला दर्ज किया गया है। वहीं, सोशल मीडिया पर सीसीटीवी वीडियो आने पर यूजर्स ने नसीरुद्दीन शाह से कहा है कि ‘सहिष्णुता’ का पाठ सबसे पहले अपने परिवार को पढ़ाएं।