उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

लखनऊ/भाषा। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भ्रष्ट अधिकारियों के लिए कड़ा संदेश देते हुए कहा कि ऐसे अधिकारियों और कर्मचारियों की सरकार में कोई जगह नहीं है।

सरकारी विज्ञप्ति में बताया गया कि मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए और उन्हें जबरन स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति दी जाए। योगी सचिवालय प्रशासन विभाग के कामकाज की समीक्षा कर रहे थे।

उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि भ्रष्ट बाबुओं की सूची तैयार की जाए और सुझाव दिया कि उन्हें स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति के लिए बाध्य किया जाए।

मुख्यमंत्री ने ई-कार्यालय प्रणाली के कार्य में तेजी लाने की आवश्यकता पर जोर दिया। अधिकारियों को निर्देश दिया कि प्रोन्नति, पदों को भरे जाने और कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति जैसे मुद्दों पर उचित कार्यवाही की जाए।

उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि भ्रष्ट कर्मचारियों के खिलाफ ठोस कार्रवाई की जाए। उनकी प्रोन्नति रोक दी जाए और उन्हें स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति दे दी जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि सचिवालय में जल्द ही बायोमीट्रिक सिस्टम शुरू किया जाएगा।

योगी की चेतावनी ऐसे समय में आई है, जब केंद्र सरकार ने भ्रष्टाचार के आरोप में 12 वरिष्ठ आयकर अधिकारियों को बर्खास्त कर दिया। इनमें एक संयुक्त आयुक्त रैंक का अधिकारी है।

LEAVE A REPLY

6 − two =