muskan donates savings to army fund
muskan donates savings to army fund

भोपाल/दक्षिण भारत। पुलवामा हमले से पूरे देश में पाकिस्तान के खिलाफ गुस्सा है। बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक सड़कों पर उतरकर सरकार से मांग कर रहे हैं कि पाक पर तगड़ा प्रहार किया जाए। इस बीच देशभर में कई लोगों ने अपने मांगलिक कार्यक्रम रद्द कर दिए या बेहद सादगी से आयोजन किया। मध्य प्रदेश के भोपाल शहर की निवासी एक बच्ची ने जब से पुलवामा आतंकी हमले के बारे में सुना है, उसकी आंखें नम हैं। इस बच्ची ने एक-एक रुपया जोड़कर अपनी गुल्लक भरी थी, लेकिन अब उसने फैसला किया है कि यह पूरी राशि वह पुलवामा शहीदों के परिजनों को भेजेगी। इसके लिए बच्ची ने अपनी गुल्ल​क फोड़ दी है।

छठी कक्षा में पढ़ने वाली मुस्कान अहीरवार (11) की इस पहल से पड़ोसी और स्कूली बच्चे भी काफी प्रभावित हुए हैं। सोशल मीडिया पर उसकी तारीफ की जा रही है और कई लोग शहीदों के परिजनों के साथ खड़े होने का संकल्प ले रहे हैं। मुस्कान एक ‘बाल पुस्कालय’ भी चलाती है। यहां दुर्गानगर स्थित घर से जब वह अपने गुल्लक में इकट्ठी की गई 680 रुपए की रकम सैनिक कल्याण कोष में जमा कराने निकली तो कई लोग उसके साथ हो गए। जिसने भी मुस्कान को देखा, उसकी तारीफ किए बिना नहीं रहा और अपनी ओर से शहीदों के परिजनों को सहायता राशि भेजने की इच्छा जताई।

उल्लेखनीय है कि पुलवामा हमले के बाद मुस्कान का जन्मदिन था। उसने इसके लिए पहले से कई योजनाएं बना रखी थीं, लेकिन शहीदों के सम्मान में जन्मदिन मनाने का विचार स्थगित कर दिया। इस संबंध में पूछे जाने पर उसने कहा, ‘कश्मीर में जब हमारे देश के जवान शहीद हो रहे हैं तो मैं अपना जन्मदिन कैसे मना सकती हूं?’ मुस्कान ने अपनी बचत की राशि शहीदों के परिजनों को भेजने की इच्छा जाहिर की, जिसके लिए उसके सभी परिजन तैयार हो गए और बच्ची का हौसला बढ़ाया।

LEAVE A REPLY

fourteen − four =